Thursday, 19 July 2018, 9:05 AM

धर्म कर्म

इस शख्स ने दी बाबासाहेब को बौद्ध की दीक्षा, अंबेडकर नाम सुनते ही उठ जाते हैं बिस्तर से

Updated on 14 April, 2016, 10:14
दलित आइकॉन डॉ. बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर ने 14 अक्टूबर 1956 को बौध धर्मं को अपनाया था और इस ऐतिहासिक क्षण के एकलौते गवाह थे 90 साल के बौध भिक्षु भादंता प्रज्ञानंद. आज प्रज्ञानंद की सेहत उन्हें बिस्तर से उठने की इजाजत नहीं देती लेकिन जब बात बाबासाहेब की आती है... आगे पढ़े

शुभता प्रदान करने वाली हैं महागौरी

Updated on 14 April, 2016, 9:32
नवरात्र के आठवें दिन मां दुर्गा के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा का विधान बताया गया है। कहा जाता है कि भगवान शिव को पति के रूप में प्राप्त करने के लिए इन्होंने कठोर तपस्या की थी, जिससे इनका शरीर काला पड़ गया। लेकिन इनकी कठोर तपस्या से महादेव प्रसन्न... आगे पढ़े

वर्ष में सिर्फ नवरात्रि में ही खुलता है मां का दरबार

Updated on 12 April, 2016, 18:08
दमोह(मध्यप्रदेश)। प्राचीन भारत दुर्गा मां मंदिर के पट प्रतिवर्ष अनुसार इस बार भी नवरात्र की प्रतिपदा को भक्तों के लिए खोल दिए गए। यहां विराजमान मां सिंहवाहनी का दरबार हर 6 माह में एक बार नवरात्रि पर लगता है। शेष दिनों में गर्भगृह बंद रहता है और मंदिर के बाहर... आगे पढ़े

हो चुकी है शक संवत् 1938 की शुरुआत

Updated on 21 March, 2016, 12:05
21 मार्च 2016 यानी शक संवत् 1938 की शुरुआत हो चुकी है। शक संवत भारत का प्राचीन संवत है जो 78 ई. से आरम्भ होता है। शक संवत भारत का राष्ट्रीय कैलेंडर है। इसे उज्जयिनी के क्षत्रप चेष्टन ने प्रचलित किया। शक राज्यों को चंद्रगुप्त विक्रमादित्य ने समाप्त कर दिया... आगे पढ़े

होली से पहले खाटू श्याम जी का मेला

Updated on 20 March, 2016, 8:31
फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी गोविंद द्वादशी के नाम से प्रसिद्ध है। इस दिन खाटूश्याम( राजस्थान) में भव्य उत्सव और मेले का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष यह मेला 20 मार्च के दिन है। राजस्थान राज्य के सीकर जिले में एक प्रसिद्ध कस्बा खाटू नगर है, जहां... आगे पढ़े

प्रकृति देती है संकेत, जिन्हें कहते हैं शकुन

Updated on 16 March, 2016, 21:31
संपूर्ण प्रकृति पृथ्वी पर मौजूद लोगों से जुड़ी है। यही कारण है कि मनुष्य के जीवन में आने वाले शुभ-अशुभ का पता पहले से ही लग जाता है। इसे हम शकुन कहते हैं। इस बारे में पूरा शास्त्र है जिसका नाम शकुन शास्त्र है। शकुन शास्त्र की मान्यता है कि... आगे पढ़े

8 अप्रैल से शुरू होंगे 8 दिन के वासंती नवरात्र

Updated on 16 March, 2016, 8:27
हिंदी नव वर्ष 8 अप्रैल से शुरू होगा। विक्रम संवत 2072 समाप्त हो रहा है और 2073 के चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि इसी दिन है। इसी के साथ वासंती नवरात्र भी शुरू हो जाएंगे। हालांकि इस बार नवरात्र सिर्फ 8 दिन के होंगे। पंचमी तिथि का क्षय होने... आगे पढ़े

इसलिए नहीं होते होलाष्टक में शुभ कार्य

Updated on 13 March, 2016, 12:41
शास्त्रों के अनुसार होलाष्टक में शुभ कार्यों का प्रारंभ नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से कष्ट और पीड़ाओं की आशंका घेरती है और संबंधों में खटास भी आ सकती है। इस तरह की परेशानियों से बचने के लिए इन दिनों में शुभ कार्यों का निषेध किया गया है। फाल्गुन मास... आगे पढ़े

यम की बहन यमुना, ब्रज संस्कृति की है जननी

Updated on 11 March, 2016, 18:49
हिंदू पौराणिक ग्रंथों के अनुसार यमुना नदी, यमराज की बहन है। जिसका नाम यमी भी है। यमराज और यमी के पिता सूर्य हैं। यमुना नदी का जल पहले साफ, कुछ नीला, कुछ सांवला था, इसलिए इन्हें 'काली गंगा और 'असित' भी कहते हैं। असित एक ऋषि थे। सबसे पहले यमुना... आगे पढ़े

इसीलिए की गई है कपूर की भगवान शिव से तुलना

Updated on 10 March, 2016, 8:09
कपूर स्वयं जलकर, ओरों की शांति देता है। पूजा की थाली में प्रज्वलित होता कपूर, शायद इसीलिए ही हम प्रज्वलित करते हैं ताकि ईश्वर की पूजा के दौरान हमारा मन शांत रहे। किसी तरह के मनोविकार हमारे मन में उत्पन्न न हों। कपूर मन को शांत रखता है यह बात हिंदू... आगे पढ़े

'मीन मलमास' में अब एक माह लग जाएगा शुभ मुहूर्तों पर ब्रेक

Updated on 9 March, 2016, 21:34
रायपुर । मकर संक्रांति के बाद शुरू हुए शुभ मुहूर्तों की श्रृंखला का आखिरी विवाह मुहूर्त 10 मार्च गुरुवार को है। वर्तमान में चल रहे हिन्दू संवत्सर की समाप्ति के पहले का आखिरी मुहूर्त होने से इस दिन ढेरों शादियां होंगी और इसके बाद 14 मार्च से अशुभ माने जाने... आगे पढ़े

श्रीहरि के लिए वरदान था ये शाप

Updated on 9 March, 2016, 12:43
भारतीय ज्योतिष में शुक्र ग्रह को भोग का कारक माना गया है। अमूमन देखा गया है। जिस व्यक्ति की कुंडली में शुक्र ज्यादा प्रभावी है, उस जातक के लिए संसार में सब कुछ मौजूद रहता है लेकिन इतना सब कुछ होते हुए भी वह दुखी रहता है। ये तो बात... आगे पढ़े

आस्था: यह मंत्र पूरी करेगा आपकी हर मनोकामना

Updated on 9 March, 2016, 8:56
श्रीयंत्र को हमेशा दीवार पर दक्षिण दिशा की ओर ही स्थापित करना चाहिए। इसके बाद व्यक्ति की जो भी मनोकामना हो उसे प्रतिदिन श्रीयंत्र के समक्ष कहें। मनोकामना मांगने के बाद 'श्री सूक्त' का पाठ करें। यह है श्री सूक्त 'ऊं हीं श्रीं कमले कमलायये प्रसीद प्रसीद। श्री हीं श्रीं ऊं महालक्ष्म्यै... आगे पढ़े

महाशिवरात्रि विशेषः रात्रि में ऐसे करें पूजा और पाएं सुख-शांति

Updated on 7 March, 2016, 17:25
महाशिवरात्रि पर भगवान शिव को यदि आप प्रसन्न करना चाहते हैं तो सबसे पहले शिवरात्रि की रात को सोएं नहीं और ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करें। भगवान शिव के शिवलिंग पर बिल्ब पत्र अर्पित करें। ऐसा करने पर आपके ऊपर लक्ष्मी जी की कृपा हमेशा बनी रहेगी। ध्यान रखें, शिवलिंग पर... आगे पढ़े

त्रिवेणी संयोग में महाशिवरात्रि, महाकाल भस्मारती का विशेष महत्व

Updated on 7 March, 2016, 8:12
इस वर्ष शिव योग, सोमवार और घनिष्ठा नक्षत्र के सुखद संयोग में महाशिवरात्रि पर्व 7 मार्च को मनाया जाएगा। यह त्रिवेणी संयोग 54 साल बाद बना है। इसके चलते पर्व पर भगवान शिव की पूजा का खास महत्व बन रहा है। इंदौर के प्रसिद्ध ज्योतिष पं. श्यामजी बापू के अनुसार चतुर्दशी... आगे पढ़े

शिव को प्रसन्‍न करने के लिए करें रुद्राभिषेक

Updated on 7 March, 2016, 8:09
महादेव को प्रसन्न करने का रामबाण उपाय है रुद्राभिषेक. ज्योतिष के जानकारों की मानें तो सही समय पर रुद्राभिषेक करके आप शिव से मनचाहा वरदान पा सकते हैं. क्योंकि शिव के रुद्र रूप को बहुत प्रिय है अभिषेक तो आइए जानते हैं, रुद्राभिषेक क्यों है इतना प्रभावी और महत्वपूर्ण.... रुद्राभिषेक की... आगे पढ़े

मां सती ही पार्वती थीं, महाशिवरात्रि पर हुआ था विवाह

Updated on 7 March, 2016, 8:05
भगवान भोलेनाथ की पत्नी सती है पार्वती थीं। सती का पुनर्जन्म पार्वती के रूप में हुआ था। सती, प्रजापति दक्ष की पुत्री थीं। उनकी मां मनु की पुत्री प्रसूति थीं। मां प्रसूति ने 16 कन्याओं को जन्म दिया था। स्वाहा नामक कन्या का अग्नि देव के साथ, सुधा नाम की कन्या... आगे पढ़े

यहां पत्थर बांधने से पूरी होगी मुराद

Updated on 5 March, 2016, 17:28
जिस पत्थर मे ईश्वर का वास होता है, उसी पत्थर को तरास कर एक मूर्तिकार मूर्ति बनाता है। और हम उस पत्थर की सुंदर मूर्ति पर आस्था के फूल चढ़ाते हैं। लेकिन झारखंड के रामगढ़ में मां का एक ऐसा मंदिर हैं, जहां लोग अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए यहां... आगे पढ़े

शिवरात्रि विशेषः इस एक मंत्र में है संपूर्ण शिव महिमा

Updated on 5 March, 2016, 17:27
सौराष्ट्रे सोमनाथश्च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्। उज्जयिन्नां महाकालमोंकारममलेश्मवरम्। केदारं हिमवत्पृष्ठे डाकिन्यां भीमशंकरम्। वाराणस्याश्च विश्वेशं त्र्यम्बकं गौतमीतटे। वैद्यनाथं चिताभूमौ नागेशं दारुकावने। सेतुबन्धे च रमेशं घुश्मेशश्च शिवालये। शिव के द्वादश ज्योतिलिंग का बहुत महत्व है। इन ज्योर्तिलिंग के दर्शन करने पर सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। इन ज्योर्तिलिंगों के 12 नाम सुबह सवेरे स्मरण करने से मनोकामनाओं की पूर्ति के... आगे पढ़े

इन पुराणों में वर्णित है महाशिवरात्रि की महिमा

Updated on 5 March, 2016, 7:43
शिव पुराण के ईशान संहिता में उल्लेखित है, 'फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी की रात्रि में भगवान शिव करोडों सूर्यों के समान प्रभाव वाले लिंग रूप में प्रकट हुए थे।' वहीं, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि में चन्द्रमा सूर्य के समीप होता है। इसीलिए महाशिवरात्रि की रात्रि को समय जीवन... आगे पढ़े

सूर्य ग्रहण 9 मार्च को, भारत में आंशिक रूप से दिखेगा

Updated on 3 March, 2016, 8:38
नई दिल्ली साल 2016 का पहला सूर्य ग्रहण 9 मार्च को पड़ेगा लेकिन भारत में यह आंशिक रूप से ही दिखेगा। देश के उत्तर-पश्चिम और पश्चिमी इलाकों को छोड़ दें तो देश के ज्यादातर हिस्सों में 9 मार्च की सुबह सूर्योदय के समय आंशिक सूर्य ग्रहण देखा जा सकेगा। जब सूर्य... आगे पढ़े

इस मंदिर में पांच सालों से पानी से जल रहा है दीया

Updated on 1 March, 2016, 22:39
आगर मालवा में चमत्कारिक रूप से पानी से दीपक जलने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है. इस दीये में पानी डालने पर तरल चिपचिपा हो जाता है, जिससे दीपक लगातार जलता रहता है. जिले के तहसील मुख्यालय नलखेड़ा  से लगभग 15 किलोमीटर दूर ग्राम गड़िया के पास कालीसिंध नदी के... आगे पढ़े

देश के इस राज्‍य में मौजूद हैं भगवान शिव

Updated on 27 February, 2016, 12:53
छत्‍तसीगढ़ के सूरजपुर जिला ऐतिहासिक रूप से देवी-देवताओं के स्थलों और पूजा पाठ के लिए मशहूर रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ कदमों की दूरी पर कई धार्मिक स्थल मौजूद हैं. लोगों में आस्था का वास्ता इस कदर समाया हुआ है कि आज भी हर रोज कही ना कही कई... आगे पढ़े

जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और शिव की पूजा करते थे

Updated on 24 February, 2016, 9:33
जीसस क्राइस्ट तमिल ब्राह्मण थे और वो भगवान शंकर की पूजा करते थे. जी हां, ये दावा है किया आरएसएस के संस्थापक सदस्यों में रहे गणेश दमादोर सावरकर ने. उन्होंने अपनी किताब ' जीसस क्राइस्ट' में दावा किया है कि जीसस तमिल के विश्वकर्मा ब्राह्मण थे और क्रिश्चयनिटी हिंदुत्व से... आगे पढ़े

इस मंदिर में चढ़ाए जाते हैं सोने-चांदी के ताले

Updated on 24 February, 2016, 9:24
कानपुर मंदिरों में देवी देवताओं को खुश करने के लिए फल, फूल, माला और अगरबत्ती का चढ़ावा तो सामान्य बात है, लेकिन कानपुर के एक मंदिर में श्रद्धालु, सोने-चांदी और अन्य मूल्यवान धातुओं के बने तालों का चढ़ावा चढ़ाते हैं। शायद आपको यह सुनकर हैरानी होगी लेकिन यह सच है। पूजा... आगे पढ़े

शनि शिंगणापुर: पुलिस हिरासत में भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख

Updated on 22 February, 2016, 18:43
महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित शनि शिंगणापुर में विरोध प्रदर्शन करने जा रही महिलाओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इनमें भूमाता ब्रिगेड की प्रमुथ तृप्ति देसाई और अन्य महिलाएं शामिल हैं। गौरतबल है कि भूमाता ब्रिगेड की सदस्यों ने कुछ दिन पहले ही शनि शिंगणापुर में महिलाओं को... आगे पढ़े

माघ पूर्णिमा स्नान आज: कई दोषों से मिलेगी मुक्ति

Updated on 22 February, 2016, 10:08
माघ पूर्णिमा को पुण्य फलदायी व स्नान-दान के लिए शुभ माना गया है। इसी मान्यता के चलते आज 22 फरवरी सोमवार को देशभर की पवित्र नदियों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु डुबकी लगा रहे हैं। ऐसी मान्यता है कि माघ पूर्णिमा पर ब्रह्म मुहूर्त में नदी में स्नान करने से... आगे पढ़े

विवादों का साईं भक्तों ने दिया चढ़ावे से जवाब, टूटा रिकॉर्ड

Updated on 21 February, 2016, 10:05
देश में पिछले कुछ महीनों में साईं बाबा को लेकर काफी विवाद हुए। लेकिन, जितने भी विवाद हुए उतनी ही साईं बाबा में उनके भक्तों की आस्था बढ़ी। शायद यही वजह है कि शिरडी के साईं मंदिर में इस बार भक्तों ने चढ़ावे का सारा रिकॉर्ड तोड़ दिया है। अमूमन... आगे पढ़े

चारधाम यात्रा: 11 मई को खुलेंगे भगवान बद्रीनाथ के कपाट

Updated on 13 February, 2016, 12:17
उत्तराखंड के टिहरी के नरेन्द्रनगर में शुक्रवार को भगवान बद्रीविशाल के कपाट खुलने की तिथि की घोषणा पूरे विधि विधान और मन्त्रोचार के बाद टिहरी नरेश मनुजयेन्द्र शाह ने की. 11 मई को बह्ममुत्र में 4 बजकर 30 मिनट में भगवान बदरीनाथ के कपाट देश विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के... आगे पढ़े

अमेरिका पहुंचता है इस्कॉन का चढ़ावा, क्या है पूरा सच?

Updated on 13 February, 2016, 12:16
शंकराचार्य स्वरूपानंद ने इस्कॉन मंदिरों को कमाई का अड्डा बताया है। उन्होंने कहा है कि इस्कॉन के मंदिरों से चढ़ावे की राशि अमेरिका भेजी जा रही है, क्योंकि इस्कॉन भारत में नहीं बल्कि अमेरिका में पंजीकृत संस्था है। आइए जानने की कोशिश करते हैं, क्या है इस्कॉन की कहानी... इस्कॉन का... आगे पढ़े