पान महज एक माउथ फ्रेशनर ही नहीं, बल्कि जबरदस्त आयुर्वेदिक औषधि है। इसके 10 फायदे आश्चर्य में डालते हैं।

1. प्राचीन आयुर्वेद में तो पान के औषधीय गुणों का वर्णन है ही, अब अंग्रेजी चिकित्सा भी मानती है कि पान के पत्ते (बिना तंबाकू के) को चबाने से पेट की सभी प्रकार की बीमारियों से राहत मिलती है। इनमें पेट का अल्सर भी शामिल है। भागमभाग भरी जिंदगी में ज्यादातर लोगों को पाचन संबंधी शिकायतें होना आम है। पान चबाने से बनने वाला स्लायवा भोजन को पचाने में सबसे अहम भूमिका निभाता है। इसलिए रोजाना एक या दो पान के पत्ते जरूर चबाएं, और फिट हो जाएं।

2. एक चौकाने वाला सच ये भी है कि पान चबाने से मुंह का कैंसर पास नहीं फटकता। लेकिन ये बात तभी लागू है जब पान बिना तंबाकू के इस्तेमाल किया जाए।

3. जिन लोगों के मुंह से बदबू आती है। उन्हें पान चबाना चाहिए। पान बदबू वाले वेक्टीरिया पर प्रहार करता हैं और मुंह को इस तरह की बीमारियों से बचाता है। अच्छे परिणाम के लिए पान को लौंग, इलाइची, दालचीनी, सौंफ, मिश्री, नारियल, इत्यादी के साथ माउथ फ्रेशनर के तौर पर इस्तेमाल करें। जिन लोगों के मुंह से बदबू आती है। उन्हें पान चबाना चाहिए। पान बदबू वाले वेक्टीरिया पर प्रहार करता हैं और मुंह को इस तरह की बीमारियों से बचाता है। अच्छे परिणाम के लिए पान को लौंग, इलाइची, दालचीनी, सौंफ, मिश्री, नारियल, इत्यादी के साथ माउथ फ्रेशनर के तौर पर इस्तेमाल करें।

4. पान में कामेच्छा बढ़ाने की जबरदस्त ताकत होती हैं। इसलिए जो लोग सेक्स एंज्वॉय करना चाहते हैं, उन्हें पान जरूर चबाना चाहिए। यही वजह है कि सदियों से नव विवाहित जोड़ों को सुहागरात में पान चबाने के लिए दिया जाता है।

5. आयुर्वेद के अनुसार पान के पत्ते में ऐसे गुण मौजूद होते हैं जिनसे मस्सों तक का इलाज संभव है। इसलिए मस्सों से संबंधित बहुत आयुर्वेदिक दवाओं में पान का इस्तेमाल किया जाता है।

6. गर्मियों में फोड़े-फुंसी होना आम है। फिक्र मत करिए, पान का पत्ता फोड़े-फुंसियों को भी छू-मंतर कर सकता है। बस पान के पत्ते पर थोड़ा सा अंरडी का तेल लगाएं और पत्ते को हलकी सा आंच में सेक लें। इससे पत्ता नरम हो जाएगा। अब इस गुनगुने पत्ते को फोड़े के ऊपर लपेट दें। कुछ ही घंटों में फोड़ा पक जाएगा और आप उसका पस निकाल सकते हैं।

7. पान के पत्ते में ब्लड शुगर से लड़ने वाली और एंटी डायबिटिक प्रॉपर्टीज होती हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पान सेहत के लिए कितना गुणकारी है।

8. पान आपकी खांसी तो ठीक करता ही है, फेंफड़ों में जमा बलगम तक निकाल देता है। करना ये है कि पान के पत्ते का रस लीजिए और शहद के साथ चाट लीजिए, इसे नियमित तौर पर इस्तेमाल कीजिए, कुछ ही दिनों में आराम मिलेगा।

9. पान में दर्दनिवारक गुण भी होते हैं, इसलिए सिरदर्द भगाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

10. घाव पर पान के पत्ते का रस लगाएं। घाव बड़ा है तो रस लगाकर पट्टी कर दें। छोटा-मोटा घाव तो दो दिन भर जाएगा।