ग्‍वालियर । स्वतंत्रता दिवस पर शिवपुरी और ग्‍वालियर के सीमा क्षेत्र स्थित सुल्‍तानगढ़ वॉटरफॉल में तेज बहाव में बहे एक दर्जन लोगों की तलाश लगातार जारी है, वहीं हादसे के बाद तीसरे दिन सुबह से जारी रेस्क्यू में टीम ने पांच शव बरामद किये हैं। गौरतलब है कि यहा घुमने आये सैलानी बुधवार को अचानक आये तेज बहाव में खुद को संभाल नहीं पाए और यह लोग झरने की धार के साथ बह गए थे, लगातार रेस्क्यू टीम तलाशी अभियान चला रही है, शुक्रवार सुबह रेस्क्यू टीम को सफलता मिली। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बुधवार को वॉटरफॉल पर पिकनिक मानाने बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे और अचानक पानी का बहाव बढ़ गया और देखते ही देखते कई लोग इस बहाव में बह गए। वहीं देर रात तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन में स्थानीय तीन युवक की मदद से चट्टान पर फंसे लोगों को बचा लिया था| लेकिन पानी में बहे लोग लापता है, उनकी तलाशी के लिए लगातार रेस्क्यू टीम गौताखोर तलाशी अभियान चला रहे हैं। खबर लिखे जाने तक गुरूवार को दिन भर यहां खोज हुई, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली, शुक्रवार सुबह एक के बाद एक कर पांच शव नदी से निकाले जा चुके हैं। तीन शवो की शिनाख्त हो चुकी है। रेस्क्यू टीम के मुताबिक नाजीद अली (19), ऋषिकांत कुशवाह (21), सोनू ठाकुर (13) और अभिषेक रामसेवक के शव मिले हैं। जानकारी के अनुसार शुक्रवार को झरने से 1 किमी की दूरी पर ही अभी तक सभी लाशे मिली है। इनमे से 3 लोगो की पहचान हो चुकी हैं। बताया जा रहा हैं कि लाशो अब पानी के कारण फुलने लगी है जिससे वे  पानी में ऊपर आ रही हैं। वही हादसे मे कितने लोग पानी में बहे थे इसको लेकर आंकड़े स्पष्ट नहीं है, मुख्यमंत्री ने 6 लोगों के लापता होने की बात कही थी, वही आठ लोगों के लापता होने की बात भी सामने आई, जबकि घटना के दौरान कई लोगों ने 12 से अधिक लोगो के बहने कि बात कही हैं, बहने वाले सैलानियो कि संख्या को लेकर प्रशासन भी स्पष्ट नहीं है, फिलहाल रेस्क्यू टीम तलाशी अभियान में लगी है|