नई दिल्‍ली : भारत लगातार अपनी सैन्‍य शक्ति में इजाफा कर रहा है. इसी क्रम में भारत ने रविवार को राजस्‍थान में हवा से सतह पर सटीक वार करने वाले गाइडेड बम (एसएएडब्ल्यू) और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल हेलिना का सफल परीक्षण किया है. इनको पूर्णरूप से स्‍वदेशी तकनीक से बनाया गया है. इनमें अत्‍याधुनिक तकनीक का इस्‍तेमाल हुआ है.

देश में विकसित गाइडेड बम- एसएएडब्ल्यू और एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल हेलिना का राजस्थान में अलग-अलग फायरिंग रेंज में सफल परीक्षण किया गया. रक्षा मंत्रालय ने इसे लेकर जानकारी देते हुए बताया कि चांदन रेंज में वायु सेना के विमान से स्मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वीपन (एसएएडब्ल्यू) का सफल परीक्षण हुआ. हेलिना का परीक्षण पोखरण में हुआ.

मंत्रालय ने बताया कि एसएएडब्ल्यू युद्धक सामग्री से लैस था और पूरी सटीकता के साथ लक्ष्य पर निशाना साधने में यह सफल रहा. बयान में कहा गया, ‘‘एसएएडब्ल्यू उम्दा दिशासूचक का इस्तेमाल करते हुए विभिन्न जमीनी लक्ष्यों को तबाह करने में सक्षम है.’’ पोखरण फायरिंग रेंज में हेलिना मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया. इस मिसाइल ने सटीकता के साथ अपने लक्ष्य को भेद डाला. यह दुनिया में अत्याधुनिक एंटी टैंक हथियारों में से एक है.