मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 68,500 शिक्षक भर्ती में नवनियुक्त शिक्षकों को 4 सितम्बर को नियुक्ति पत्र देंगे। ये आयोजन राम मनोहर लोहिया विधि विवि में होगा। काउंसिलिंग से पहले ही नियुक्त पत्र बांटने का कार्यक्रम तय कर दिया गया है। इस कार्यक्रम में लगभग 4 हजार शिक्षकों को नियुक्त पत्र दिया जाएगा। 


इस भर्ती में 41,555 अभ्यर्थी पात्र हैं लेकिन आवेदन केवल 40669 अभ्यर्थियों ने ही किया है। 68,500 शिक्षक भर्ती में मंगलवार तक आवेदन लिए गए। चूंकि तयशुदा पदों से कम ही अभ्यर्थी लिखित परीक्षा पास कर पाए हैं लिहाजा काउंसिलिंग आदि जल्दी हो जाएगी। एनआईसी अभ्यर्थियों की सूची 31 अगस्त तक बेसिक शिक्षा परिषद को सौंपेगा।  एक से तीन सितंबर तक जिलों में काउंसिलिंग होगी। 


इस भर्ती में 41,555 में से 887 अभर्थियों ने आवेदन नहीं किया है। माना जा रहा है कि इन अभ्यर्थियों को इस बीच दूसरी नौकरी मिल गई है या फिर ये अन्य किसी पात्रता पर खरे नहीं उतरते। पहली बार लिखित परीक्षा के माध्यम से शिक्षक चुने गए हैं। 

इनसेट-


शैक्षिक रूप से पिछड़े आठ जिलों को मिलेंगे 13920 शिक्षक

प्रधानमंत्री द्वारा चयनित शैक्षिक रूप से अति पिछड़े आठ जिलों में इनमें से 13920 शिक्षकों की नियुक्ति होगी। बहराइच में 2720, फतेहपुर 2 में 000, सिद्धार्थनगर में 1840, सोनभद्र 1760, बलरामपुर 1600, चंदौली 1520, श्रावस्ती 1440 व चित्रकूट में 1040 पद हैं। इलाहाबाद में 415 और  प्रतापगढ़ में  425 जबकि कौशाम्बी में 323 पद हैं।