रूस ने एक वीडियो जारी कर दावा किया है कि उसने हत्या करने वाले रोबोट (किलर रोबोट) तैयार कर लिए हैं. इन रोबोट को युद्ध में सैनिकों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, ब्रिटिश मीडिया ने इसे प्रोपेगेंडा वीडियो करार दिया है.
रूस के एडवांस्ड रिसर्च फाउंडेशन (एआरएफ) की ओर से वीडियो जारी किया गया है जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक के आधार पर काम करने वाले टैंकों को भी दिखाया गया है. हालांकि, दुनियाभर में किलर रोबोट के इस्तेमाल करने पर कई तरह के सवाल उठते रहे हैं. (फोटोज- यूट्यूब/एआरएफ)
ड्राइवरलेस टैंक सैनिक की राइफल के डायरेक्शन के आधार पर काम करता है. एडवांस्ड रिसर्च फाउंडेशन ने कहा है कि उसका मकसद आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित रोबोट सेना तैयार करना है.
वीडियो में खास ड्रोन भी दिखाए गए हैं. वर्तमान में सैनिक ड्रोन को कंट्रोल करते हैं, लेकिन भविष्य में पूरी तरह ऑटोमेटिक ड्रोन युद्ध में इस्तेमाल किए जाएंगे. इसका मतलब ये हुआ कि ड्रोन खुद ही टारगेट को लोकेट करके मार गिराने में सक्षम होंगे. 
रूस के एडवांस्ड रिसर्च फाउंडेशन के प्रवक्ता ने बताया कि रोबोट के इवोल्यूशन का मकसद इन्हें अधिक से अधिक ऑटोनोमस बनाना है. बता दें कि दुनियाभर में सुपरवापर देश रिमोट आधारित गाड़ियां और ऑटोनोमस यंत्र बनाने पर खास ध्यान दे रहे हैं.