नई दिल्ली : बॉलीवुड की चकाचौंध से भी जिंदगी के पीछे कई ऐसी असल कहानियां भी हैं जो धोखे और दुख से भरी हुई हैं. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में अपने काम और शोहरत के लिए मशहूर बोनी कपूर और उनकी पहली पत्नी मोना कपूर का रिश्ता भी कुछ ऐसा ही रहा. मोना कपूर जब बोनी कपूर की दुल्हन बनकर आईं तो वो उनसे पूरे दस साल छोटी थीं. परिवार और बच्चों को संभालने के बीच मोना को पता ही नहीं चला कि कब उनके और बोनी कपूर के रिश्ते में दरार आ गई. बोनी कपूर और एक्ट्रेस श्रीदेवी की गुपचुप शादी ने मोना की जिंदगी में तूफान ला दिया. 
मोना कपूर ने अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि बोनी मुझसे 10 साल बड़े थे और जब मेरी शादी हुई तब मैं 19 साल की थी. मैं बोनी के साथ बड़ी हुई. हम दोनों की शादी को 13 साल हुए थे, तब मुझे पता चला कि मेरा पति किसी और से प्यार करता है. इसके बाद हमारे रिश्ते में कुछ नहीं बचा था और हम इस रिश्ते को एक और मौका नहीं दे सकते थे,  क्योंकि श्रीदेवी एक बच्ची की मां बन चुकी थीं. दोनों ने 2 जून 1996 को शादी कर ली थी. 
खबरों की मानें तो जब श्रीदेवी अपने बुरे दौर से गुजर रही थीं तो मोना और बोनी कपूर ने उन्हें अपने घर में पनाह दी थी. इतना ही नहीं मोना और श्रीदेवी बहुत अच्छी सहेलियां थीं लेकिन बोनी कपूर के साथ श्रीदेवी के रिश्ते ने दोनों का रिश्ता तोड़ दिया. मोना कपूर ने एक बार कहा था कि मैं श्रीदेवी से गुस्सा नहीं हूं क्योंकि इन सब में गलती सबसे ज्यादा मेरे पति की है. मैं उसे दोष नहीं दे सकती. 
खबरों की मानें तो जब श्रीदेवी अपने बुरे दौर से गुजर रही थीं तो मोना और बोनी कपूर ने उन्हें अपने घर में पनाह दी थी. इतना ही नहीं मोना और श्रीदेवी बहुत अच्छी सहेलियां थीं लेकिन बोनी कपूर के साथ श्रीदेवी के रिश्ते ने दोनों का रिश्ता तोड़ दिया. मोना कपूर ने एक बार कहा था कि मैं श्रीदेवी से गुस्सा नहीं हूं क्योंकि इन सब में गलती सबसे ज्यादा मेरे पति की है. मैं उसे दोष नहीं दे सकती.