इन्दौर । खजराना स्थित सादी तालाब पर अव्वल इराक़ी अल-मदार हज़रत सैयद शाह बाबा सरकार का 29वां उर्स क़ौमी एकता के संदेश के साथ मनाया जाएगा। जिसमें क़ुरआन ख़्वानी, चादर, कव्वाली और लंगर के आयोजन भी होंगे। हज़रत सैयद शाह बाबा सरकार तालाब उर्स कमेटी के अध्यक्ष अनवर जल्ला पटेल ने बताया आज 12 अप्रैल को जुमे की नमाज़ बाद क़ुरआन ख़्वानी (क़ुरआन पाठ) के साथ उर्स की शुरुआत होगी। 13 अप्रैल को शाम 6 बजे सूफी-संतों की मौजूदगी में परंपरागत चादर पेश की जाएगी। 13 अप्रैल को रात 9 बजे से कव्वाल मुज़म्मिल हुसैन क़ादरी की कव्वाली की महफ़िल सजेगी। उर्स में सभी धर्म के मानने वाले पूरी आस्था के साथ यहां हाज़िर होते हैं। ये उर्स की शहर में ख़ास पहचान है। रंगे महफ़िल और देश की खुशहाली की दुआ के साथ उर्स का समापन 14 अप्रैल को होगा।