नई दिल्ली,  दिल्ली पुलिस ने नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पत्नी अपूर्वा और दो घरेलू नौकरों को रविवार को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया. सूत्रों ने बताया कि पुलिस रोहित तिवारी की हत्या के मामले में अपूर्वा को मुख्य संदिग्ध मान रही है.

दिल्ली पुलिस ने पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद रोहित तिवारी की हत्या के मामले में गुरुवार को मामला दर्ज किया था. रिपोर्ट में बताया गया कि तिवारी की हत्या गला घोंटे जाने के कारण सांस रुकने से हुई है. मामले को जांच के लिए क्राइम ब्रांच के पास भेज दिया गया है. उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच ने दक्षिणी दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी में रोहित तिवारी के घर पर शनिवार को अपूर्वा से आठ घंटे पूछताछ की थी.

रोहित शेखर की मां उज्ज्वला ने रविवार को आरोप लगाया कि अपूर्वा और उसके परिवार वालों की नजर रोहित की जायदाद पर थी. गौरतलब है कि रोहित की 16 अप्रैल को संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. घटना के बाद रोहित शेखर की मौत की गुत्थी और उलझ गई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पुलिस का शक रोहित शेखर के करीबियों पर गहरा गया है. रोहित शेखर की मां उज्ज्वला शर्मा में दोबारा पूछताछ हुई जिसमें कई चौंकाने वाला खुलासा हुआ.

उज्ज्वला शर्मा ने पहली बार शेखर की किसी और महिला से करीबी और पत्नी अपूर्वा के साथ अनबन को लेकर कुछ नए खुलासे किए. उज्ज्वला शर्मा ने हत्या के पीछे संपत्ति विवाद की भी आशंका जताई. उज्ज्वला शर्मा ने ये भी बताया कि रोहित और अपूर्वा इस जून में एक दूसरे से तलाक लेने वाले थे. पुलिस सूत्रों के मुताबिक रोहित शेखर के पास दो मोबाइल नंबर थे.

खास बात ये है कि रात 3 बजे से 4 बजे के आसपास शेखर के नंबर से किसी को फोन करने की कोशिश की गई जिसकी जांच जारी है. सूत्रों के मुताबिक तिलक लेन में रहने वाले एक रिश्तेदार की पत्नी कुमकुम भी शेखर के साथ उत्तराखंड गई थी. इसको लेकर शेखर की पत्नी खफा थी. डिफेंस कॉलोनी के उस घर से झगड़े की दो पीसीआर कॉल भी हुई थी.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक यह 'अप्राकृतिक मौत का मामला है और यह संभव है कि उनकी हत्या की गई है.' क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा कि रोहित तिवारी की हत्या का मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि पुलिस हर पहलू से मामले की जांच कर रही है जिसमें 'रोहित शेखर तिवारी और उनके भाई सिद्धार्थ के बीच संपत्ति विवाद' भी शामिल है. यह पाया गया है कि परिवार के पास उत्तराखंड और दिल्ली में करोड़ों की संपत्ति है.

रोहित ने अदालत में मामला दायर कर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नरायण दत्त तिवारी को अपना पिता बताया था. नरायण दत्त तिवारी ने पहले इससे मना किया लेकिन डीएनए टेस्ट में यह साबित हुआ कि वे रोहित के पिता हैं. रोहित को बुधवार को उनकी मां एंबुलेंस से मैक्स अस्पताल लेकर पहुंची थीं लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी. पुलिस कमिश्नर विजय कुमार ने आईएएनएस से कहा, "रोहित शेखर तिवारी (40) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मौत अप्राकृतिक है. अन्य विरोधाभासी बातें भी सामने आईं हैं. मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है." पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह संकेत मिला है कि रोहित का मुंह दबाकर उन्हें जान से मारा गया है.

फोरेंसिक और क्राइम ब्रांच की टीमों ने डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर जाकर जांच पड़ताल की है. घर की वीडियोग्राफी की गई, सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की गई.