नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में गिरफ्तार कथित रक्षा एजेंट सुषेन मोहन गुप्ता की न्यायिक हिरासत की अवधि सोमवार को तीन मई तक बढ़ा दी.

ED ने की थी गिरफ्तारी
विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार ने गुप्ता की हिरासत की अवधि बढ़ाने का आदेश दिया. गुप्ता को धनशोधन रोकथाम कानून के तहत प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था. इससे पहले अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

सरकारी गवाह ने किया था खुलासा
ईडी ने कहा था कि मामले में सरकारी गवाह बने राजीव सक्सेना द्वारा किए गए खुलासों के आधार पर मामले में गुप्ता की भूमिका सामने आई थी. 

हो सकती है बड़ी जानकारी
ऐसा संदेह है कि गुप्ता के पास अगस्तावेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर की खरीदारी के लिए 3600 करोड़ रुपए के समझौते के भुगतान संबंधी जानकारी है.