लंदन । पाकिस्तान के बल्लेबाज आसिफ अली विश्व कप में खेलने के लिए एक बार फिर इंग्लैंड पहुंच गए हैं। आसिफ को अपनी मासूम बेटी की कैंसर के कारण हुई मौत के कारण स्वदेश लौटना पड़ा था। आसिफ के साथ इतना दर्दनाक हादसा हुआ है पर वह अपनी बेटी को एक योद्धा मानते हैं। आसिफ ने ट्वीट किया, ‘मैं अपनी बेटी फातिमा को एक योद्धा के तौर पर याद रखना चाहता हूं। वह मेरी ताकत और प्रेरणा थी। मैं आप सभी से अनुरोध करूंगा कि मेरी राजकुमारी (बेटी) की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करें।’
महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर सहित कई दिग्गज खिलाड़ियों ने इस दुखद घटना पर आसिफ के प्रति संवेदना व्यक्त की है। 
तेंदुलकर ने कहा, 'परिवार के किसी सदस्य का अचानक चले जाना काफी दुखद होता है। मैं आसिफ, उनकी पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करता हूं, इस तरह के नुकसान को भरा नहीं जा सकता। मैंने भी अपने पिता को 1999 के विश्व कप के दौरान खो दिया था और घर लौट आया था, वापस जाने के बावजूद मैं अपने पिता के खोने के दुख से नहीं निकल पा रहा था। इससे उबरने में समय लगता है। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि इस दुख की घड़ी में आसिफ को दुख सहने की शक्ति दे।'
आसिफ पाकिस्तान के अहम खिलाड़ी हैं। अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के कारण वह मैच बदलने की क्षमताएं रखते हैं।  इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज में आसिफ ने अब तक 4 मैचों में 142 रन बनाए है और उनका औसत 35.50 रहा है।  साथ ही उनका स्ट्राइक रेट 131.48 रहा। वह पाक टीम में फिनिशर की भूमिका निभाते हैं। 
सकते हैं।