इन्दौर । पढाई के लिए एक जुनून पैदा कीजिये। यदि आप पढ़-लिख कर क़ाबिल बन जाएंगे तो आपका विकास कभी नहीं रुकेगा। ये बात अच्छी तरह समझ लीजिए कि दुनिया की कोई ताकत तब-तक  सफलता नहीं दिला सकती, जब-तक खुद में सफलता पाने की इच्छा और जिद्द ना हो। 
उक्त प्रेरक विचार अतिथियों ने मध्यप्रदेश नायता पटेल समाज के प्रतिभाशाली विद्यर्थियों के सम्मान समारोह में व्यक्त किये।इस अवसर पर  समाज के संरक्षक अन्नू पटेल, प्रदेश अध्यक्ष शरीफ़ पटेल, सदर युनुस पटेल,पार्षद हाजी उस्मान पटेल, शहजाद पटेल, क़ुदरत पटेल पहलवान, युसुफ पटेल, एहसान पटेल सरपंच, नादर पटेल, सद्दाम पटेल, राजा सर, असलम इक़बाल पटेल, असग़र पटेल बोस, शरीफ़ मास्टर, आज़ाद पटेल, हैदर पटेल, शाहरूख पटेल बादशाह, जावेद पटेल सहित समाज के वरिष्ठजनों की ख़ास मौजूदगी में प्रतिभाओं को सम्मान से नवाजा गया।कार्यक्रम में अन्नू पटेल ने अपने संबोधन में कहा कि "ख़ामोशी से बनाते रहो पहचान अपनी,हवाएं ख़ुद गुनगुनाएँगी नाम तुम्हारा।" नायता पटेल समाज के प्रवक्ता कय्युम पटेल ने बताया कि समाज की लड़कियों में भी अब शिक्षा के प्रति जागरुकता बढ़ी है।सम्मान समारोह में 80 से 95 परसेंट नंबर लाने वाले विद्यार्थियों को शील्ड और प्रमाण पत्र देकर सम्मान से नवाजा गया तो तालियों की गड़गड़ाहट से माहौल गूंज उठा। सभी ने खड़े होकर तालियां बजाते हुए बच्चों की हौसला अफजाई की तो परिजनों और अभिभावकों की ख़ुशी से आंखें छलक उठी। कार्यक्रम में समाजसेवियों से लेकर डाक्टर,इंजीनियर, मजिस्ट्रेट सहित कई प्रतिभावान शख़्सियतों ने भी इस अवसर पर बच्चों की क़ाबलियत को सलाम किया। संचालन की ज़िम्मेदारी सोहराब पटेल बिल्डर के पास थी। आभार युवा इंजीनियर जावेद पटेल ने माना ।राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।कुल मिलाकर नायता पटेल समाज का आयोजन क़ाबिले तारीफ रहा,जिससे बच्चों में सफलता के लिए एक जज़्बा पैदा हुआ।