जबलपुर । मध्य प्रदेश की नरसिंहपुर पुलिस ने केन्द्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के पुत्र प्रबल पटेल सहित सात लोगों को हत्या के प्रयास के आरोप में मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। नरसिंहपुर जिला मुख्यालय के गोटेगांव में सोमवार की रात बैलहाई बाजार में किसी बात को लेकर इतना विवाद बढ़ा कि मारपीट हो गई और गोलियां तक चल गईं। इस वारदात में दो लोग घायल हुए हैं। उनका इलाज जबलपुर के अस्पताल में जारी है। 
जिला पुलिस अधीक्षक गुरुकरण सिंह ने मंगलवार को बताया कि प्रबल पटेल (26) और मोनू पटेल (27) सहित 12 आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 147, 148, 149, 307, 365, 294, 323, 324, 427, 353, 333 व 25-27 आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि इनमें से प्रबल पटेल सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि मोनू पटेल और अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। मोनू पटेल प्रहलाद पटेल के छोटे भाई और नरसिंहपुर से विधायक जालम सिंह पटेल का पुत्र है। अधीक्षक ने बताया कि विवाद के दौरान हिमांशु राठौर के हाथ में गोली लगी। हमले में राठौर के अलावा एक होमगार्ड सिपाही ईश्वर राय, राहुल राजपूत, शिवम राय और मयंक भी घायल हो गए थे। सभी घायलों को इलाज के लिए जबलपुर रेफर किया गया है। पुलिस विवाद की वजह पुरानी रंजिश बता रही है, जबकि क्षेत्र में रंजिश की वजह अवैध उत्खनन को बताया जा रहा है।
नगर सैनिक पर भी हमला 
मारपीट करने के बाद सभी आरोपी दोनों युवकों को लेकर शिवम राय नामक युवक के घर पहुंचे उसको घर के बाहर बुलाकर मारने लगे। इसी दौरान शिवम के पिता नगर सैनिक ईश्वर राय बाहर आए और बेटे को बचाने का प्रयास किया तो आरोपियों ने उनके साथ मारपीट कर दी। इस पूरी घटना में दो बार गोली भी चलाई गई, जिसमें एक गोली हिमांशु के हाथ में जाकर लगी।