पटना : बिहार में चमकी बुखार का कहर जारी है. अभी तक 146 से करीब बच्चों की मौत हो चुकी है. सरकार तो घिर ही रही थी, लेकिन अब विपक्ष भी निशाने पर है. वजह है बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की चुप्पी.

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता रघुवंश प्रसाद सिंह से तेजस्वी यादव की चुप्पी और गैरमौजूदगी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि तेजस्वी कहां हैं. वह यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि शायद वह क्रिकेट विश्वकप देखने गए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे ज्यादा जानकारी नहीं हैं.
ज्ञात हो कि तेजस्वी यादव देश से बाहर नहीं जा सकते हैं, क्योंकि उनका पासपोर्ट प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जब्त कर रखा है. ऐसे में उनकी गैरमौजूदगी को लेकर काफी चर्चा हो रही है.
बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार (एईएस) की वजह से 146 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है. वहीं, चमकी बुखार के प्रकोप को लेकर कहा जा रहा है कि यह मुख्य रूप से लोगों में जागरुकता नहीं होने की वजह से तेजी से फैला है. 

सिर्फ मुजफ्फरपर में अब तक चमकी बुखार से 117 बच्चों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा वैशाली में 12, समस्तीपुर में 5, गया में 6, मोतिहारी और पटना में दो-दो बच्चों की मौत हुई है. चमकी बुखार का कहर ऐसा है कि चार दिनों में अस्पताल में फिर ठीक हो चुके बच्चे की अचानक मौत हो गई है. 

वहीं, आपको बता दें कि हालात का जायजा लेने के लिए खुद सीएम नीतीश कुमार मंगलवार को मुजफ्फरपुर स्थित एसकेएमसीएच अस्पताल पहुंचे लेकिन एसकेएमसीएच अस्पताल में लोगों ने नीतीश कुमार का जमकर विरोध किया.