नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी की जगह किसी दूसरे नेता को चुने जाने से जुड़ी अटकलों के बारे में पूछे जाने पर पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी ने गुरुवार को कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. संसद भवन परिसर में इस बारे में पूछे जाने पर सोनिया पत्रकारों से कहा, ‘नो कमेंट (कोई टिप्पणी नहीं).’ दूसरी तरफ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने आगामी कदमों को लेकर लग रही अटकलों के बीच कहा कि वह अपने बारे में कोई फैसला नहीं करेंगे.

लोकसभा चुनाव में हार के बाद से राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने को लेकर अड़े हुए हैं, लेकिन कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) उनके इस्तीफे के प्रस्ताव को खारिज कर चुकी है और उनसे सभी स्तरों पर पार्टी का पुनर्गठन करने को कहा है.

मैं नहीं, पार्टी तय करेगी मेरा उत्तराधिकारी: राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने आगामी कदमों को लेकर लग रही अटकलों के बीच गुरुवार को कहा कि वह नहीं, बल्कि उनकी पार्टी उनके उत्तराधिकारी के संबंध में फैसला करेगी. गांधी से जब यह पूछा गया कि उनके बाद किसे कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाएगा, तो उन्होंने उत्तर दिया कि उनके उत्तराधिकारी के बारे में वह निर्णय नहीं लेंगे.

लोकसभा चुनाव में हार के बाद से राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने को लेकर अड़े हुए हैं, लेकिन कांग्रेस के सर्वोच्च निर्णायक निकाय सीडब्ल्यूसी ने उनके इस्तीफे के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है और उन्हें सभी स्तरों पर पार्टी का पुनर्गठन करने को कहा है. गांधी ने यह भी कहा कि आज भी उनका वही रुख है कि राफेल विमान सौदे में चोरी हुई है.

संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण में राफेल के जिक्र के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में गांधी ने संसद भवन में यह टिप्पणी की. गांधी ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा, 'मेरा रुख आज भी वही है कि राफेल विमान सौदे में चोरी हुई है.'