नई दिल्ली। वाइएसआर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा है कि उनकी पार्टी लोकसभा उपाध्यक्ष पद के लिए इच्छुक नहीं है। पार्टी तब तक भाजपा नीत राजग में शामिल नहीं होना चाहेगी, जब तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दे देते।

पार्टी नेता ने कहा कि 17वीं लोकसभा में 22 सांसदों के साथ चौथी सबसे बड़ी पार्टी वाइएसआर कांग्रेस राजग व संप्रग दोनों से बराबर दूरी रखना चाहती है। उन्होंने कहा, 'आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिल पाने के लिए विपक्ष और खासकर कांग्रेस भी जिम्मेदार है। उन्होंने राज्य का विभाजन किया, लेकिन विशेष दर्जा नहीं दिया। इसलिए, हम उनसे भी बराबर दूरी रखेंगे।' हालांकि, नेता ने कहा कि देशहित में उनकी पार्टी सत्तारूढ़ गठबंधन को मुद्दों पर आधारित समर्थन कर सकती है।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाइएसआर कांग्रेस के सूत्रों ने उपाध्यक्ष पद के मुद्दे पर कहा कि इसके लिए सीधे तौर पर कोई प्रस्ताव नहीं दिया गया है, लेकिन संकेत दिए गए हैं। वाइएसआर कांग्रेस नेता ने कहा कि पार्टी ने भाजपा नेतृत्व को अपने रुख से अवगत करा दिया है।