नई दिल्ली । भारत और अमेरिका के बीच व्यापार और आव्रजन के मुद्दे पर जारी तकरार के बीच दोनों देश रक्षा क्षेत्र में एक बड़ी डील की तैयारी में हैं। खबरों के मुताबिक नई दिल्ली और वॉशिंगटन के बीच 10 अरब डॉलर के रक्षा करार हो सकते हैं। इस करार में अमेरिका से मेरटाइम पट्रोल एयरक्राफ्ट पी-8 भी शामिल होगा। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यह रक्षा करार अमेरिका के फॉरन मिलिटरी सेल्स प्रोग्राम के तहत होगा। एक रक्षा मंत्रालय की एक कमेटी ने पिछले सप्ताह ही 10 पी-8आई विमानों की खरीद को मंजूरी दे दी थी। अब इसे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली डिफेंस अक्वीजिशन काउंसिल के पास मंजूरी के लिए अगस्त तक भेजा जाएगा। एक सूत्र ने यह भी कहा कि नए पी-8आई विमान भारत द्वारा पहले खरीदे गए 12 विमानों पी-8आई से ज्यादा अडवांस होंगे। भारतीय नौसेना में पहले पी-8आई विमान को 2013 में शामिल किया गया था। फिलहाल ऐसे 8 विमान नौसेना के पास हैं और बाकी चार विमान जुलाई 2021-22 तक नौसेना को मिल जाएंगे।