नई दिल्ली 
क्रिकेट में पुरानी कहावत है ‘लपको कैच-जीतो मैच’ और टीम इंडिया इस कहावत पर अमल करते हुए टूर्नमेंट में अभी तक अजेय बनी हुई है। वहीं दूसरी ओर भारत की चिर-प्रतिद्वंद्वी टीम पाकिस्तान इस मामले में भी फिसड्डी साबित हो रही है।  
 
भारत ने अभी तक टूर्नमेंट में सबसे कम एक ही मैच टपकाया है, वहीं पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा 14 कैच टपकाए हैं। इतने ज्यादा कैच टपकाने का असर पाकिस्तान के सफर पर भी पड़ा है, जहां उसने अभी तक 6 में से केवल 2 मैच ही जीते हैं, जबकि भारत ने 5 में 4 मैच अपने नाम किए हैं। उसका एक मैच न्यू जीलैंड के खिलाफ बारिश में धुल गया था। 
 
इंग्लिश हाथ भी सुरक्षित नहीं 
भारत ने अभी तक जो एकमात्र कैच टपकाया है, वह कैच पाकिस्तान के खिलाफ मैच में ही केएल राहुल के हाथों से फिसला था लेकिन इसके बाद या इसके पहले टीम के किसी भी प्लेयर ने यह गलती नहीं दोहराई। पाकिस्तानी टीम कभी बेस्ट फील्डिंग टीम नहीं रही है। 

ऐसे में खेल के इस विभाग में उनका फिसड्डी होना अचरज की बात नहीं, लेकिन अगर अपने दमदार क्षेत्ररक्षण के लिए मशहूर इंग्लैंड, न्यू जीलैंड और साउथ अफ्रीका जैसी टीमें इस लिस्ट में पाकिस्तान के आस-पास हैं तो यह वाकई में चौंकाने वाला तथ्य है। 

इंग्लैंड की टीम ने टूर्नमेंट में अभी तक 12 कैच टपकाए हैं और वह सबसे ज्यादा कैच टपकाने के मामले में पाकिस्तान के बाद इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। जबकि न्यू जीलैंड और साउथ अफ्रीका की टीमें क्रमश: 9 और 8 कैच के साथ इंग्लैंड के बाद हैं। 
 
अफगानी कर रहे कमाल
वर्ल्ड कप के मुकाबले में भारत की सांसें अटका देने वाली अफगानिस्तान की टीम भी कमाल कर रही है। बोलिंग इस टीम की मजबूती है और टीम का फील्डिंग इस मजबूती को और भी बल दे रहा है। भारत के बाद सबसे कम कैच टपकाने वाली टीम अफगानिस्तान की ही है। इस टीम ने अभी तक केवल दो ही कैच टपकाए हैं। वहीं श्री लंका ने 3, बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया ने 4-4 और वेस्ट इंडीज ने 6 कैच गिराए हैं।