जबलपुर। संभागायुक्त राजेश बहुगुणा ने पर्यटन की दृष्टि से मदन महल पहाड़ी स्थित प्राचीन एवं ऐतिहासिक महत्व के स्मारकों की आकर्षक विद्युत साज-सज्जा करने के निर्देश दिए हैं। श्री बहुगुणा शुक्रवार को कलेक्टर भरत यादव एवं नगर निगम आयुक्त आशीष कुमार के साथ मदन महल पहाड़ी पर पौधारोपण की तैयारियों का जायजा लेने वहां पहुंचे थे। उन्होंने मदन महल पहाड़ी पर पर्यटन सुविधाओं के विकास और विस्तार के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी अधिकारियों से ली।
    संभागायुक्त ने इस मौके पर मदन महल किला और बैलेंसिंग रॉक के ऐतिहासिक महत्व को प्रदर्शित करने सूचना फलक लगाने की जरूरत भी बताई। उन्होंने पर्यटन की दृष्टि से मदन महल पहाड़ी के व्यवस्थित विकास पर जोर देते हुए कहा कि पहाड़ी के प्राकृतिक सौंदर्य का लुत्फ लेने यहां आने वाले पर्यटकों के वाहनों के लिए पार्किंग स्थल और पिकनिक स्पॉट विकसित किए जाने चाहिए।
    संभागायुक्त ने जिन्नाती मस्जिद के समीप स्थित तालाब के सौंदर्यीकरण की कार्ययोजना बनाने के निर्देश भी दिये।  उन्होंने पहाड़ी तक पहुंचने के लिए अलग-अलग ट्रेक और अलग-अलग स्थानों पर पहुंच मार्ग बनाने का सुझाव भी दिया। श्री बहुगुणा ने पहुंच मार्गों के दोनों ओर फूलदार प्रजाति के पौधे लगाये जाने के निर्देश दिए।
    संभागायुक्त ने चौहानी श्मशानघाट के अतिक्रमण से मुक्त कराये गये स्थल का मुआयना भी किया। उन्होंने चौहानी श्मशानघाट के दोनों ओर उद्यान बनाने की कार्ययोजना तैयार करने तथा अतिक्रमण से मुक्त हुई भूमि पर पौधारोपण के निर्देश दिए। श्री बहुगुणा ने पर्यावरण की सुरक्षा की दृष्टि से चौहानी श्मशानघाट में शवों के दाह संस्कार में लकड़ी के स्थान पर गोबर स्टिक के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया। संभागायुक्त ने मदन महल पहाड़ी से संग्राम सागर तक रोप-वे बनाने की दिशा में हुई प्रगति का ब्यौरा भी लिया। उन्होंने मदन महल की पहाड़ियों पर एनसीसी के छात्रों को ट्रेकिंग के लिए प्रोत्साहित किये जाने की बात भी कही।
    संभागायुक्त ने मदन महल पहाड़ियों पर पौधारोपण में स्थानीय परिस्थितियों के अनुकूल उपयुक्त प्रजाति के पौधे लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने मदन महल पहाड़ी क्षेत्र में शासकीय और निजी भूमि के चिन्हांकन की हिदायत भी मौके पर मौजूद अधिकारियों को दी।
    संभागायुक्त के निरीक्षण के दौरान मदन महल पहाड़ी से अतिक्रमण हटाने की जा रही कार्यवाही का ब्यौरा भी अधिकारियों से लिया। इस मौके पर एसडीएम गोरखपुर मनीषा बास्कले एवं नगर निगम के उपायुक्त राकेश अयाची भी मौजूद थे।