इन्दौर । सबका मालिक एक, सर्वधर्म समभाव, एकता अखंडता और स्वच्छ और स्वस्थ भारत के संदेश दे रही जीवंत झांकियां... 60 मंचों से पुष्पवर्षा... ढोल-ताशे, झांज-मंजीरे और नाशिक बैंड की सुर लहरियां... केशरिया साफा बांधे युवाओं की नृत्य करती टोलियां... बाबा की भक्ति में थिरकते हजारों भक्तों द्वारा सांई बाबा की जय जयकार और हर घर पर आतिशबाजी के बीच छोटी दीपावली जैसा उत्सवी माहौल... सांई रथ... घोड़े और बग्घियों पर देवी-देवताओं के रूप में केसरिया ध्वजाएं थामे युवक...चंदन एवं लोबान की खुशबू से सराबोर माहौल...।
यह नजारा था आज शाम श्री सांई सेवा समिति एवं ओम सांई राम ग्रुप द्वारा समाजवादी इंदिरा नगर से निकाली गई 23वीं सांई पालकी यात्रा का। क्षेत्र के 21 जोड़ों ने सबसे पहले बाबा की पालकी का पूजन कर इस यात्रा का शुभारंभ किया। सांई भक्त पं. महेश शर्मा, हरि अग्रवाल, राजेंद्र गर्ग, छोटू शुक्ला, गौतम पाठक, राजेश दुबे, पार्षद भरत पारख एवं सुधीर देडगे भी इस पालकी यात्रा के साक्षी बने। बाबा की अगवानी में समूचा पश्चिमी क्षेत्र यहां पलक पावडे बिछाए जमा रहा। यात्रा में अश्वारोही सवार 11 युवा, नासिक के ढोल, 11 ढोलक मंडली, 2 बड़े रथ, 15 छत्र, ऊंट और बैंड सहित करीब डेढ़ सौ कार्यकर्ता अपने विशेष परिधान में आकर्षण के केंद्र बने रहे। बाबा की धूनी भी पालकी के साथ शामिल थी। यात्रा मार्ग पर सांई भक्तों ने पूरे समय सफाई के इंतजाम भी स्वयं संभाले।
ओम सांई राम ग्रुप के किशोर दोरकर, राजेश पटेल, राधेश्याम दुबे, गोपाल सकवार सहित सैकड़ों साथियों ने बूंदाबांदी के बीच सुहाने मौसम में बाबा के जयघोष के बीच यात्रा का काफिला आगे बढ़ाया, आतिशबाजी से समूचा क्षेत्र गूंज उठा। अनेक सांई भक्त भजन गाते एवं स्वरलहरियों पर थिरकते हुए चल रहे थे। अतिथियों का स्वागत भूषण दोरकर, सोनू अग्रवाल, दिलीप चैहान, कपिल शर्मा आदि ने किया। मार्ग में पुलिस लाईन, नाकोड़ा चैक, स्कीम 71, रणजीत हनुमान, महूनाका, एमओजी लाईन्स आदि क्षेत्रों में भी मंच लगाकर यात्रा का आत्मीय स्वागत किया गया। मंदिर से प्रारंभ बाबा के भक्तों का यह काफिला पुनः समाजवाद इंदिरा नगर पहुंचा तो कड़ाबीन के धमाकों एवं आतिशबाजी से पूरा क्षेत्र गूंज उठा। बाबा के जयघोष के बीच अतिथियों ने पालकी का पूजन कर महाआरती में भाग लिया। यात्रा के लिए समूचे समाजवादी इंदिरा नगर को 5 क्विंटल फूलों एवं 15 क्विं. रंगोली से सजाया गया था। क्षेत्र के एक हजार से अधिक घरों के आगे रंगोली, वंदनवार और दीप सज्जा के मनोहारी दृश्य देखने लायक थे। द्रोन कैमरे से इस पालकी यात्रा की तस्वीरें भी कैद की गई। यात्रा मार्ग में यातायात व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के लिए अनेक प्रमुख कार्यकर्ता साथ चल रहे थे। यात्रा के पीछे-पीछे दस कार्यकर्ता झाडू लेकर चल रहे थे और समूचे यात्रा मार्ग की सफाई में जुटे रहे।
:: आज पुष्प बंगला, विशाल भंडारा :: 
आयोजन समिति के किशोर दोरकर ने बताया कि शनिवार 29 जून को सुबह 5 बजे पांच नव विवाहित युगलों द्वारा अभिषेक एवं सांय 6 बजे भव्य पुष्पबंगला सजाकर सांई बाबा को विराजित किया जाएगा और महाआरती के बाद विशाल भंडारे के साथ इस महोत्सव का समापन होगा। आसपास की 20 कालोनियों के सांई भक्त इसमें पुण्य लाभ उठाएंगे।