क्रिकेटर अंबाती रायडू ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। रायडू को बेहतर प्रदर्शन के बाद भी विश्व कप के लिए टीम में जगह नहीं दी गयी थी। उसी से निराश होकर उन्होंने यह घोषणा की है।  
केवल 33 साल की उम्र में संन्यास की घोषणा कर रायडू ने सबको हैरान कर दिया है। इस संबंध में रायडू ने बीसीसीआई को मेल भेजा है। बीसीसीआई सीईओ, राहुल जोहरी ने कहा कि बीसीसीआई को उनका मेल मिला है। जोहरी ने यह भी कहा कि रायडू ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया है और वह फिलहाल एक साल और आईपीएल खेलेंगे।
प्रशंसकों ने टीम में जगह नहीं मिलने पर उठाये थे सवाल 
आंध्र प्रदेश के इस बल्लेबाज को विश्व कप के लिए भेजी गई 15 सदस्यों की टीम में पहले शामिल नहीं किया गया था पर बाद में प्रशंसकों की नाराजगी को देखते हुए रिजर्व खिलाड़ियों में उसे जगह दी गयी। चोट के कारण विजय शंकर के बाहर होने पर रिजर्व खिलाड़ी के तौर पर शामिल रायडू को टीम में जगह मिलनी थी पर बीसीसीआई ने मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल कर लिया। इसपर प्रशंसकों ने भी नाराजगी जताते हुए सवाल उठाये थे। प्रशंसकों का कहना था कि 50 के औसत वाले अनुभवी खिलाड़ी की जगह एक गैरअनुभवी खिलाड़ी मयंक को शामिल करना राजनीति नहीं तो और क्या है। इससे पहले भी जब रायडू की जगह वर्ल्ड कप टीम में जब शंकर को लिया गया था तब लोगों ने इसपर सवाल उठाए थे, क्योंकि उससे पहले भी रायडू अच्छा क्रिकेट खेल रहे थे। भारतीय टीम की घोषणा के बाद आईसीसी ने सवाल उठाया था कि 
सबसे अधिक औसत वाले खिलाड़ी को क्यों शामिल नहीं किया गया है। 
तब बीसीसीआई ने तर्क दिया था कि शंकर को 'तीनों विभागों में काबिलियत' के बल पर लिया गया है। इसपर रायडू ने मजाकिया लहजे में ट्वीट किया था कि उन्होंने विश्व कप देखने के लिए 3डी ग्लास ऑर्डर किए हैं। हालांकि, विजय शंकर के बाहर होने के बाद भी राडडू की जगह मयंक अग्रवाल को मौका मिला।
रायडू के आंकड़े 
रायडू ने अपने करियर में कुल 55 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने 1694 रन बनाए। इसमें 3 शतक 10 अर्धशतक शामिल हैं, वहीं 6 टी20 मुकाबलों में उन्होंने कुल 42 रन बनाए। आईपीएल की बात करें तो इसबार वह चेन्नै सुपर किंग्स के लिए खेले थे। उन्होंने 147 आईपीएल मैचों में 3300 रन बनाए।
आइसलैंड दे चुका है नागरिकता का ऑफर
आइसलैंड ने दिया खेलने का प्रस्ताव 
इससे पहले आइसलैंड उन्हें मजाकिया अंदाज में अपनी नागरिकता का ऑफर भी दे चुका है। आइसलैंड क्रिकेट के ट्विटर अकाउंट से रायडू के लिए ट्वीट किया गया। ट्वीट में लिखा गया था कि उन्हें आइसलैंड की नागरिकता के लिए आवेदन कर देना चाहिए।
ट्वीट में आइसलैंड क्रिकेट ने अग्रवाल द्वारा खेले गए तीन टेस्ट मैचों का जिक्र करते हुए लिखा गया, 'रायडू अब अपने 3डी ग्लास हटा सकते हैं। हमारे द्वारा उनके लिए जो कागजात तैयार किया गया है उसे सामान्य चश्मे से भी पढ़ा जा सकता है। अंबाती आइए हमसे जुड़ जाइये।' 
संन्यास के लिए बीसीसीआई दोषी : गंभीर
पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने बल्लेबाज अंबाती रायडू के अचानक लिए गए संन्यास के लिए बीसीसीआई और चयनकर्ताओं को जिम्मेदार बताया है। गंभीर ने चयनकर्ताओं के शर्मनाक भी करार दिया है। गंभीर का कहना है कि चयनकर्ताओं द्वारा नजरअंदाज किए जाने के कारण ही रायडू को 33 साल की उम्र में ही खेल को अलविदा कहना पड़ा है। चयनकर्ताओं ने विश्व कप के लिए अंबाती रायडू को 15 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया था। उन्हें रिजर्व खिलाड़ियों में जगह दी गई थी। इसके बाद शिखर धवन और विजय शंकर के चोटिल होने के बावजूद उन्हें टीम में मौका नहीं दिया गया। ऐसे में निराश होकर रायडू को मजबूरन संन्यास लेना पड़ा है। 
पूर्व क्रिकेटर और सांसद गंभीर ने इस मसले पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘मुझे लगता है कि इस विश्व कप में चयनकर्ता पूरी तरह से निराश होंगे। रायडू का संन्यास लेने का कारण वे ही हैं। पूर्व ओपनर ने चयनकर्ताओं को आड़े हाथें लिया और कहा, ‘ इन पांच चयनकर्ताओं ने मिलकर भी उतने रन ही बनाए होंगे, जितने की रायडू ने अपने करियर में अकेले बनाए हैं। उनके संन्यास लेने से मैं भी निराश हूं।’ अंबाती रायडू ने भारत के लिए अब तक 55 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 47.05 के औसत से 1694 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने तीन शतक और 10 अर्धशतक भी बनाए हैं।  गंभीर ने आगे कहा, ‘विश्व कप में चोटों के बीच ऋषभ और मयंक को टीम में शामिल किया गया। ऐसे में रायडू की जगह कोई भी होता तो उन्हें भी बुरा लगता। उनके जैसे क्रिकेटर ने आईपीएल और देश के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है।’ उन्होंने कहा, ‘तीन शतक और 10 अर्धशतक लगाने के बावजूद अगर एक खिलाड़ी को जगह न मिलने के कारण संन्यास लेना पड़ता है तो यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत नहीं है।’