इन्दौर । प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना का जिले में प्रभावी  क्रियान्वयन किया जा रहा है।वित्तीय वर्ष 2019-20 के प्रथम तीन माह में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में इंदौर जिले में अप्रैल 2019 से जून 2019 तक 10159 हितग्राहियों  को लाभान्वित किया।इस प्रकार इंदौर जिला  प्रथम त्रैमास में संख्यात्मक दृष्टि से प्रदेश में प्रथम स्थान पर है।
इंदौर जिले ने जो उपलब्धि प्राप्त की है, उसमें विगत माह में इंदौर शहर में चलाए गए "विशेष अभियान" का योगदान है, जिसमें महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त संचालक डॉ संध्या व्यास द्वारा  जून माह में इंदौर शहर की सभी पर्यवेक्षकों की बैठक लेकर उन्हें अपने आंगनवाड़ी के सर्वे क्षेत्र के बाहर जाकर जो अनकवर्ड क्षेत्र हैं, वहां पर सर्वे कर हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए प्रेरित किया गया था, जिसके बाद इंदौर शहर की पर्यवेक्षकों और परियोजना अधिकारियों द्वारा अभियान चलाकर परियोजना सर्वे क्षेत्र के बाहर के अनकवर्ड क्षेत्र में पात्रता रखने वालों की पहचान कर " प्रधानमंत्री मातृ वंदना" के केस बनाकर लाभान्वित किया गया। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में प्रथम प्रसव के लिए गर्भवती को कूल 5000 तक की राशि तीन किस्तों में दी जाती है। इंदौर जिले के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों इसका पंजीयन किया जाता है तथा प्रथम द्वितीय एवं तृतीय किस्त के लिए अलग अलग फॉर्म भरे जाते हैं। इसमें पात्रता हेतु केवल शासकीय अधिकारी-कर्मचारी नहीं होना चाहिए, बाकी कोई बंधन इस योजना में नहीं है।
इंदौर जिले ने जो संख्यात्मक उपलब्धि (लगभग 10 हजार) प्राप्त की है, वह प्रदेश के लगभग 20 जिलों के वार्षिक लक्ष्य से भी अधिक है।