दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस पर व उसके बाद आतंकी हमले के इनपुट्स एक बार फिर मिले हैं। खुफिया विभाग से दिल्ली पुलिस को दिए गए इनपुट्स में कहा गया है कि आतंकी जम्मू कश्मीर से 370 हटने से बौखलाए हुए हैं और दिल्ली में आतंकी हमला कर सकते हैं। आतंकी हमले के लिए किसी सरकारी वाहन का इस्तेमाल कर सकते हैं। आतंकी हमले के इनपुट्स मिलने के बाद दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। लालकिले की सुरक्षा को चाक चौबंद कर दिया गया है। लालकिले की सुरक्षा के लिए चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।  दिल्ली पुलिस के एक सीनियर पुलिस अधिकारी के अनुसार खुफिया विभाग से मिले इनपुट्स के बारे में जिला डीसीपी को बता दिया गया है। जिला डीसीपी ने सबडिवीजन एसीपी व थानाध्यक्षों को बता दिया गया है। थानाध्यक्षों ने अपने स्टाफ को ब्रीफ कर दिया है। हमले के इनपुट्स को देखते हुए राजधानी में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और जगह-जगह पिकेट लगाकर चेकिंग शुरू कर दी गई है। दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने रविवार को जनरल गश्त बुलाई थी और खुद गश्त के लिए निकले थे। पुलिस आयुक्त ने कई जगहों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। 

उत्तरी जिले की डीसीपी नूपुर प्रसाद ने सोमवार को मीडिया को बताया कि 15 अगस्त को देखते हुए लालकिले की सुरक्षा को पुख्ता किया गया है। लालकिले की सुरक्षा के लिए मचान बनाए गए हैं। बहुत सारे चेक पाइंट बनाए गए हैं। स्थानीय पुलिस के अलावा सुरक्षा यूनिट, एनएसजी, एसपीजी व सेना के जवान तैनात रहेंगे। लालकिले की निगरानी के लिए चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। लालकिले के आस-पास करीब 800 कैमरे लगाए गए हैं। चेहरे को पढ़ने वाले साफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया जा रहा है।  

पतंग और ड्रोन पर लगी रोक 
उत्तरी जिला डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि लालकिले के आसपास व दिल्ली में ड्रोन उड़ाने पर रोक लगा दी गई है। ड्रोन के साथ-साथ पतंग उड़ाने पर भी रोक रहेगी। लालकिले के कार्यक्रम के दौरान सुबह 7:30 बजे से लेकर 8:30 बजे तक पतंग उड़ाने पर रोक रहेगी। लालकिले की सुरक्षा में 10 कंपनियां तैनात की गई हैं। पांच किलोमीटर तक की रेंज के एचडी कैमरे लगाए गए हैं।