जनजातीय संग्रहालय में गायन, वादन, एवं नृत्य गतिविधियों पर केन्द्रित श्रृंखला 'उत्तराधिकार' में इस बार रविवार 10 नवम्बर को शाम 6.30 बजे से बुंदेली गायन और कथक नृत्य  एवं असमिया लोक समूह नृत्य की प्रस्तुतियाँ होंगी।
शुरुआत श्री राज कुमार सिंह ठाकुर (सागर) अपने साथी कलाकारों के साथ 'बुंदेली गायन' से करेंगे। इसके बाद गुरु मरामी मेधी (असम) अपने साथी कलाकारों के साथ 'कथक नृत्य' एवं 'असमिया लोक समूह नृत्य' प्रस्तुत करेंगी।
श्री राज कुमार सिंह ठाकुर लम्बे समय से गायन के क्षेत्र में सक्रिय हैं। इन्होंने देश के विभिन्न कला मंचों पर प्रस्तुतियाँ दी हैं। गुरु मरामी मेधी को कई प्रतिष्ठित सम्मानों और पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।