अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारत के लिए चालू वित्त वर्ष के जीडीपी ग्रोथ रेट अनुमान को घटाकर 4.8 फीसदी कर दिया है. आईएमएफ की इतनी बड़ी कटौती की वजह से लगातार दूसरे कारोबारी दिन भारतीय शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 220 अंक तक लुढ़क गया और यह 41 हजार 400 अंक के नीचे आ गया. वहीं निफ्टी की बात करें तो 30 अंक से अधिक की गिरावट रही और यह 12 हजार 200 अंक के नीचे कारोबार करता दिखा.
इस दौरान बैंकिंग और ऑटो सेक्‍टर के शेयर में सुस्‍ती देखने को मिली. हीरो मोटोकॉर्प, एचडीएफसी बैंक‍ और कोटक बैंक के शेयर में 1 फीसदी से अधिक की गिरावट रही तो वहीं ओएनजीसी, इंडसइंड बैंक, एनटीपीसी के शेयर हरे निशान पर कारोबार करते देखे गए.

सोमवार को बाजार का हाल
सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत ठीक नहीं रही. इस दिन सेंसेक्स 416.46 अंकों की गिरावट के साथ 41,528.91 अंक पर और निफ्टी 127.80 अंकों की गिरावट के साथ 12,224.55 अंक‍ पर बंद हुआ. दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स ने 42,273.87 अंक के ऊपरी स्तर और 41,503.37 के निचले स्तर को छुआ. वहीं कारोबार में निफ्टी 12,430.50 अंक के ऊपरी स्तर और 12,216.90 अंक के निचले स्तर पर रहा.

IMF ने जीडीपी ग्रोथ पर दिया झटका
बता दें कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भारत के लिए चालू वित्त वर्ष के जीडीपी ग्रोथ रेट अनुमान को घटाकर 4.8 फीसदी कर दिया है. आईएमएफ के मुताबिक भारत और इसके जैसे अन्य उभरते देशों में सुस्ती की वजह दुनिया के ग्रोथ अनुमान को उसे घटाना पड़ा है. इसके पहले आईएमएफ ने चालू वित्त वर्ष में 6.1 फीसदी बढ़त होने का अनुमान जारी किया था. जबकि एक साल पहले इसी अवधि में आईएमएफ ने 7.5 फीसदी का अनुमान जताया था.