नई दिल्ली,टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने केएल राहुल का जिक्र करते हुए महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यदि केएल राहुल पांचवें नंबर पर कुछ पारियों में असफल रहते हैं तो टीम प्रबंधन उन्हें इस क्रम में बरकरार नहीं रखेगा। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी के युग में ऐसा होता था और हर खिलाड़ी को खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त मौके दिए जाते थे।

एक वेबसाइट से बात करते हुए धाकड़ बल्लेबाज ने कहा, ‘अगर लोकेश राहुल पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए चार बार विफल रहता है तो मौजूदा भारतीय टीम प्रबंधन उनका स्थान बदलने की कोशिश करेगा। हालांकि धोनी के साथ ऐसा नहीं होता था, जो जानते थे कि खिलाड़ियों का ऐसे हालात में समर्थन करना कितना अहम होता है क्योंकि वह खुद इस मुश्किल दौर से गुजरे थे।’

सहवाग ने कहा कि जब धोनी कप्तान थे तो टीम चयन में थोड़ी स्पष्टता रहती थी। उन्होंने कहा, ‘धोनी की कप्तानी के दौरे में बल्लेबाजी इकाई में हर खिलाड़ी के स्थान के संबंध में काफी स्पष्टता रहती थी। वह प्रतिभा का पारखी था और उसने उन खिलाड़ियों को पहचाना जो भारतीय क्रिकेट को आगे लेकर गए।'