नई दिल्‍ली। सार्वजनिक क्षेत्र के यूको बैंक ने रेपो दर पर आधारित कर्ज की ब्याज दर में 0.40 फीसदी की कटौती की है। इस कटौती के साथ ही बैंक का लोन पर ब्‍याज दर 6.90 फीसदी पर आ गया है। बैंक ने क़ल देर रात इस कटौती की जानकारी दी। बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ये कटौती रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के हाल ही में रेपो दर में की गई कटौती का लाभ ग्राहकों को पहुंचाने वाला कदम है। इसके साथ ही बैंक ने कहा है कि इस कटौती के फलस्‍वरूप बैंक का खुदरा और एमएसएमई कर्ज भी 0.40 फीसदी सस्ता होगा। हालांकि, बैंक ने जमा दरों में किसी तरह के बदलाव की जानकारी नहीं दी है। गौरतलब है कि सरकारी चाहती है कि बैंक अपनी ब्याज दरों को कम करें, ताकि कर्ज सस्ता हो और अर्थव्यवस्था में गतिविधियां तेज हों। दरअसल कोविड‑19 की महामारी और देशव्‍यापी लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था की गति पिछले कुछ महीनों में काफी धीमी पड़ गई। उल्‍लेखनीय है कि एक मार्च के बाद से बैंकों ने अब तक 6 लाख करोड़ रुपये के कर्ज को मंजूरी दी है। इसमें से यूको बैंक ने 15 हजार करोड़ रुपये के कर्ज को मंजूरी दी है, जिसमें से 12 हजार करोड़ रुपये का कर्ज बांट दिया गया है। वहीं, बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इससे उसके 1.36 लाख ग्राहकों को फायदा पहुंचा है।