मुंबई । कप्तान रोहित शर्मा की मुम्बई इंडियंस अपना पांचवां खिताब जीतने के इरादे से 19 सितंबर को चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) के सामने उतरेगी। सीएसके को इस बार अनुभवी तेज गेंदबाज लसित मलिंगा और अच्छे स्पिनरों की कमी खलेगी। टीम अबुधाबी की धीमी पिचों पर अपने अधिकतर मैच खेलेगी और ऐसे में हालातों से तालमेल बनाना उसके लिए जरुरी रहेगा। ऐसे में कप्तान रोहित और क्विंटन डी कॉक की सलामी जोड़ी के ऊपर टीम को बड़े स्कोर तक ले जाने की जिम्मेदारी होगी। इनके अलावा क्रिस लिन भी सलामी बल्लेबाज के लिए अच्छे विकल्प रहेंगे। वहीं मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव, कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पंड्या और कुणाल पंड्या जैसे बल्लेबाज टीम के मध्यक्रम को मजबूती देंगे।मुंबई के पास आक्रमक बल्लेबाज हैं पर  उनकी मुख्य कमजोरी सही गेंदबाजी संयोजन को लेकर है। तेज गेंदबाज मलिंगा निजी कारणों से इस टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में दूसरे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह पर पूरी जिम्मेदारी रहेगी। वहीं इसके अलावा मिशेल मैक्लेनाघन और ट्रेंट बोल्ट भी अच्छे विकल्प रहेंगे। ऑस्ट्रेलिया के जेम्स पैटिंसन के होने से टीम के पास विकल्प बढ़े हैं। टीम में चयन को लेकर इन सबके बीच कड़ा मुकाबला होगा। टीम को कुणाल पंडया और राहुल चाहर से भी उम्मीदें रहेंगी। ऑफ स्पिनर जयंत यादव के लिए पिछला घरेलू सत्र अच्छा नहीं रहा ऐसे में यह देखना होगा कि उन्हें इस सत्र में कितने मैचों में अवसर मिलता है। ऑलराउंडर कीरोन पोलार्ड भी बदलाव के तहत गेंदबाजी कर सकते हैं। वह हालांकि पिछले कुछ सत्र से नियमित तौर पर गेंदबाजी नहीं कर रहे है। मुंबई इंडियन्स के साथ पिछले 10 साल से जुड़े 33 वर्षीय 146.77 के स्ट्राइक रेट से 2755 रन बनाए हैं।टीम के कोच महेला जयवर्धने ने कप्तान रोहित पर भरोसा व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि सहजता से बल्लेबाजी करने वाले राहित विपक्ष की कमजोरियों और ताकत के अनुरुप रणनीति बनाते हैं।