नई दिल्‍ली। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) ने एक नवंबर को काला दिवस मनाने की मांग की है। कमेटी का कहना है कि एक नवंबर 1984 से सिख दंगे की शुरुआत हुई थी, जिसमें हजारों की संख्या में सिखों की हत्या हुई थी।

इसलिए इस दिन को काला दिवस मनाया जाना चाहिए। इसके लिए डीएसजीपीसी के महासचिव मनजिन्दर सिंह सिरसा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर विधानसभा में इस संबंध में प्रस्ताव पारित करने की मांग की है।