तीन प्राचार्यों को एससीएन जारी, एक का वेतन काटा

 

छतरपुर। जिला शिक्षा अधिकारी एस.के. शर्मा ने सोमवार को जिले के विभिन्न स्कूलो का आकस्मिक निरीक्षण कर अनुपस्थित शिक्षको का वेतन काटने के निर्देश जारी ऽकिए। 

बच्चों के ज्ञान स्तर और योजनाओं की हकीकत की  पोल तब खुलती नजर आई जब डीईओ एस.के. शर्मा ने जिले के कई हाई स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया। शासकीय कन्या हाई स्कूल महाराजपुर में प्राचार्य अचला गर्ग दोपहर 2ः15 बजे शाला से अनुपस्थित मिली। हस्ताक्षर पंजी में ओडी डीईओ कार्यालय लिखा था पर वे कार्यालय नहीं पहुंची। इस बात की पुष्टि स्वयं जिला शिक्षा अधिकारी ने फोन से की व्यवस्थाएं दुरूस्त करने के निर्देश दिए।

हायर सेकेण्डरी महराजपुर तथा बालक हाई स्कूल गढ़ीमलहरा का भी निरीक्षण किया। सभी विद्यालयों में अव्यवस्थाएं पाई। इन विद्यालयों में ब्रजकोर्स का संचालन नहीं किया गया है, साथ बेसलाइन टेस्ट लिया जाना भी नहीं पाया गया। बच्चों के स्तर के अनुरूप ग्रुप का निर्धारण कर बच्चों की बैठक व्यवस्था भी नहीं पाई गई। बच्चों के रिकार्ड का संधारण भी विधिवत् होना नहीं पाया गया। नेहरू हायर सेकेण्डरी महाराजपुर में टाइम टेबिल में दो.दो सेक्शन किन्तु यथार्थ में एक-एक ही सेक्शन मिलने तथा बच्चों का शैक्षणिक स्तर न्यून पाएं जाने पर वहां को प्रभारी प्राचार्य एम.के. शर्मा को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

शाम 4ः30 बजे शासकीय हाई स्कूल मनकारी बन्द मिला। जबकि संस्था का समय शाम 5ः30 बजे तक है। ग्रामीणों का कहना था कि शिक्षक देर से आते है और 2ः30 बजे से जाना शुरू हो जाता है। यहां के समस्त स्टॉफ की  एक दिन की वेतन रोकने के साथ.साथ प्राचार्य को एससीएन जारी करते हुए जवाब मांगा।

जिला शिक्षा अधिकारी एस. के शर्मा ने सभी संस्था प्रमुखों को मौके पर ही निर्देश दिएे की वे सात दिवस में बच्चों की उपस्थिति शत् प्रतिशत करें। 1 नवम्बर से जिले के सभी प्राचार्य जिनके यहां एक परिसर एक शाला व्यवस्था लागू है, वे उनका संचालन एक साथ करें। साथ ही एक कर्मचारी उपस्थिति पंजी संधारित करें। निरीक्षण केदौरान कई शिक्षक कक्षाओं में मोबाइल का उपयोग करते हुए मिले। डीईओ ने उन्हें हिदायत देते हुए कहा कि यदि अब पुनरावृत्ति हुई तो कार्यवाही सुनिश्चित है। 

 

 

राजेन्द्र कुमार रैक्वार 

दबंग मीडिया 

संवाददाता

Source ¦¦ DM news