पेटिंग स्प्रे से लोगों को हो रही है दमा की बीमारी

 

छतरपुर। छतरपुर जिले में नियमों को ताक में रखकर रिहायशी इलाकों में खुलेआम प्रशासन को चुनौती देकर एक गोदरेज अलमारी की फैक्ट्री चल रही है। इस फैक्ट्री में अलमारियों में होने वाले स्प्रे के कण से कई लोगों से दमा की बीमारी हो चुकी है। जिसके चलते बूढ़े बुजुर्गों की मौत भी हो चुकी है परंतु फैक्ट्री संचालक की हिटलशाही के चलते वह लगातार जिला प्रशासन को चुनौती देकर खुलेआम यह फैक्ट्री चला रहा है। बीते रोज वार्ड क्रमांक 27 के मोहल्ले वासियों ने एक लिखित शिकायत छतरपुर एसडीएम से की और उसमें उल्लेख किया है कि शुक्लाना मोहल्ला में रहने वाले ललित शुक्ला,  भैयन शुक्ला तनय उदयभान शुक्ला का लड़का शुक्लाना मोहल्ले में रिहायशी इलाके में गोदरेज अलमारी की फैक्ट्री खोले हुए है। इस फैक्ट्री से लोगों को काफी परेशानी होती है। आवेदन में यह उल्लेख किया है कि इस अलमारी पर रंग रोगन के लिए जो स्प्रे किया जाता है वह लोगों की बेचैनी बढ़ाता है और सांस लेने में लोगों को दिक्कत होती है। जिसके कारण लोग खांसते हैं और खांसते खांसते कई लोगों को दमा और कैंसर जैसी बीमारी हो रही है। मोहल्लेवासी फैक्ट्री के कारण अपने घर दरवाजे बंद करके रखते हैं। जिससे छोटे छोटे बच्चों को भी इस फैक्ट्री से काफी खतरा है। मोहल्लेवासियों ने एसडीएम से तत्काल फैक्ट्री को मोहल्ले से हटाए जाने की मांग की है। इस संबंध में पूर्व सीएमएचओ केके चतुर्वेदी ने बताया कि स्प्रे करने से वातावरण में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और टीवी जैसी बीमारी को जन्म मिलता है। मोहल्ले से तत्काल इस फैक्ट्री को शहर से बाहर करना चाहिए। कुल मिलाकर शासन के नियमों को ताक में रखकर फैक्ट्री मालिक यह फैक्ट्री चला रहा है। जबकि उद्योग विभाग शहर के महोबा रोड के पास औद्योगिक क्षेत्र में उद्योगों के लिए जमीन आवंटित की गई है परंतु फैक्ट्री मालिक ललित शुक्ला प्रशासन की परवाह न कर खुलेआम मोहल्लेवासियों को तकलीफ दे रहा है। यदि समय रहते प्रशासन ने इस फैक्ट्री को नहीं हटाया तो पूरे मोहल्लेवासी आंदोलन कर सकते हैं। जिला कलेक्टर का ध्यान आपेक्षित है। 

 

राजेन्द्र कुमार रैकवार

दबंग मीडिया 

Source ¦¦ DM news