पुलिस ने 24 घंटे में किया आरोपियो को गिफ्तार 

छतरपुर। जमीन की खरीद.फरोख्त के बदले मिलने वाली रकम का बंटवारा न होने के कारण एक युवक की दो लोगों ने जान ले ली। रात में पत्थर से सिर कुचलकर मौत के हवाले करने वाले आरोपियों को पुलिस ने सुबह ही दबोच लिया। पुलिस ने हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेजा जा रहा है। 

मंगलवार की रात करीब साढ़े 10 बजे कंट्रोल रूम के माध्यम से मातगुवां पुलिस को सूचना दी गई कि परा चौकी के पास पुलिया के नीचे एक व्यक्ति की लाश पड़ी है। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी उपनिरीक्षक उमेश यादव एफएसएल टीम और डॉग  स्क्वॉड को लेकर घटना स्थल पर पहुंचे जहां उन्होंने लाश को कब्जे में लेकर उसकी पहचान कराई। मृतक का नाम नर्मदा अहिरवार पुत्र मुन्नीलाल अहिरवार निवासी चौका बताया गया। नर्मदा की हत्या सिर को पत्थर से कुचलकर की गई थी। पुलिस ने हत्या का जुर्म दर्ज कर विवेचना शुरू की और सुबह होते ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 24 घंटे के भीतर हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर हत्याकाण्ड से पर्दा उठाने पर एसपी ने पुलिस बल की प्रशंसा की है। इस खुलासे में मातगुवां थाना प्रभारी उमेश यादव के अलावा एएसआई मनभरण सिंह, प्रधान आरक्षक राहत खां, उमाशंकर त्रिपाठी, दादूराम, शिशुपाल सिंह, आरक्षक अजय मिश्रा, राजेन्द्र सिंह, वीरेन्द्र सिंह, संजय साहू, राममिलन, चालक कपिल मिश्रा, हाकिम सिंह के अलावा साईबर सेल के आरक्षक किशोर रैकवार की भूमिका महत्वपूर्ण रही।  

यह है घटना की वजह

पत्रकारों के सामने घटना का खुलासा करते हुए एसपी तिलक सिंह ने बताया कि नर्मदा अहिरवार निवासी चौका का जमीन की दलाली के पैसों को लेकर गांव के ही प्रीतम सिंह पुत्र भगत सिंह व जयपाल सिंह पुत्र राजेन्द्र सिंह से विवाद चल रहा था। मंगलवार शाम साढ़े 6 बजे दोनों आरोपी घटना स्थल के पास देखे गए थे उनको पकड़कर पूछताछ की गई तो उन्होंने स्वीकारा कि नर्मदा अहिरवार आ रहा था उसे रोककर पैसे मांगे, इसी बात को लेकर कहा.सुनी हो गई। उसे पकड़कर पुलिया के नीचे ले गए और उसके ऊपर पत्थर पटककर उसकी हत्या कर दी। 

 

राजेन्द्र कुमार रैकवार 

दबंग मीडिया 

व्यूरोचीफ

Source ¦¦ DM news