धसान के सीमित बचे पानी में लिफ्टर से निकाली जा रही रेत

अलीपुरा। क्षेत्र में धसान नदी के खकौरा घाट पर जिला कलेक्टर की रेत उत्खनन की परमीशन मिलते ही नदी के पानी में लिफ्टर एवं एलएनटी मशीन उतार दी गई है। रेत कारोबारी किसानों को चंद पैसे देकर खेतों को तोडऩे में लगे हुए हैं जिससे आगे चलकर धसान नदी के बहाव को कई अलग.अलग जगह से मोड़ दिया जाएगा। अलीपुरा ग्राम पंचायत को पूर्व में दी गई फ्री होल्ड खदान के खसरा नंबर 2113 में से ही 4 हेक्टेयर की खदान 3 लोगों में बांट दी गई। अधिकारियों ने रेत उत्खनन के लाइसेंस बांटते समय मौके पर निरीक्षण नहीं किया जिससे आने वाले समय में विवाद की स्थिति तैयार हो जाएगी।

प्रशासन बना तमाशबीन

उल्लेखनीय है कि अलीपुरा धसान नदी में अंकित पांडे दिल्ली, गिरिराज शर्मा ग्वालियर और पीएनसी को बालू बेचने की लाइसेंस दिए गए हैं। लाइसेंस मिलने के बाद यह रेत कारोबारी खनिज अधिनियम की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं तथा प्रशासन को भी आंखें दिखा रहे हैं। रेत कारोबारियों पर सत्ताधारी नेताओं का संरक्षण होने से वे राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों से लडऩे झगडऩे के लिए भी तैयार रहते हैं। ऐसे में किसानों को होने वाली परेशानी के खिलाफ कार्यवाही कैसे संभव होगी। रेत के व्यापारी ना तो पर्यावरण की चिंता कर रहे हैं और ना ही प्रशासन की। धसान नदी में 10 से 15 फीट पानी होने के बावजूद भी बालू निकालने वाली मशीनें नदी के पानी में गरजने लगी हैं। घाट पर काम कर रहे एक कर्मचारी ने बताया की काम पूरे सिस्टम से शुरू किया गया है। जिला कलेक्टर द्वारा 3 वर्ष के लिए रेत उत्खनन एवं डंप की परमीशन दी गई है। अब हम जैसे चाहे वैसे बालू का उत्खनन कर सकते हैं। कर्मचारी ने कहा कि जब कार्यवाही करने वाली अधिकारी ही हमारे सिस्टम में हैं तो गरीब किसानों और ग्रामीणों का सहयोग कौन करेगा। अलीपुरा के खकौरा घाट पर नियम विरुद्ध तरीके से रेत का ढेर पानी से निकालकर लगना शुरू हो गया है जो रात्रि में परिवहन का रूप ले लेता है।

इनका कहना

धसान पर दिए गए रेत उत्खनन के घाटों की स्वीकृति कि मुझे जानकारी नहीं हैए यह खनिज विभाग के अधिकारी ही बता सकते हैं।

बीपी सिंह, तहसीलदार, नौगांव

मेरे पास अभी तक धसान नदी पर दिए गए रेत का उत्खनन की स्वीकृति संबंधी कोई दस्तावेज प्राप्त नहीं हुए हैं और बिना अनुमति के उत्खनन नहीं होने दिया जाएगा।

बलराम सिंह राठौर, थाना प्रभारी, अलीपुरा

Source ¦¦ DM news