नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह की कार्यशैली के कारण विकास की ओर बढ़ता छतरपुर

 


छतरपुर। नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह वह शख्सियत है जिन्होंने अपने हर दायित्व का सफलता पूर्वक निर्वाह किया है। 15 वर्ष पूर्व छतरपुर में बहू बनकर आई अर्चना गुड्डू सिंह ने परिवारिक दायित्वों का सफलता पूर्वक निर्वाह कर राजनीति के क्षेत्र में जो कदम रखा वह उनकी कार्यशैली के कारण  क्षेत्र के लोगों को खूब भाया। नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह ने अपने साढ़े 9 वर्ष के कार्यकाल में शहर को जो विकास की दिशा दी उससे छतरपुर शहर की  गिनती अब अग्रणी शहरों में होने लगी है। नपाध्यक्ष की कार्यशैली ने चाहे शहर के विकास की बात हो, महिलाओं के उत्थान, गरीब तबके के  लोगों की मदद, नगर पालिका में छोटे-छोटे कार्य की बात हो सभी में सबकों साथ लेकर चलने की झलक दिखाई देती हैं। उन्होंने महिलाओं के उत्थान और उन्हें सशक्त बनाने के लिए कई कदम उठाए। महिला समितियों का गठन किया, महिलाओं को रोजगार दिलाने के लिए कार्य किए। गरीब महिलाओं को लगभग 700 मशीनों का वितरण किया जिससे वह अपने पैरों पर खड़ी हो सकें। शहर की वर्षो पुरानी पेयजल समस्या को खत्म करने के लिए अमृत परियोजना के तहत पूरे शहर में 68 करोड़ रूपए की लागत से पाईप लाइन बिछाने का कार्य नई टंकियों का निर्माण शुरू कराया जो आज पूर्णता की ओर है इससे घर-घर लोगों के पानी  पहुंचने लगा है। नपाध्यक्ष ने शहर को सुंदर बनाने के लिए नवीन पार्को का निर्माण कराया, हनुमान टौरिया के पीछे और सटई रोड पर मरघट की पहाड़िया के पास डेढ़-डेढ़ करोड़ की लागत से आधुनिक पार्क बनवाए। शहर की सड़कों के  चौड़ीकरण के लिए वे लगातार प्रयासरत हैं। रेलवे स्टेशन से पन्ना नाका तिराहे तक तथा ललौनी तिराहा से बिजावर नाके तक सड़को के चौड़ीकरण का निर्माण कार्य प्रस्तावित हैं। नपाध्यक्ष ने गरीब बच्चियों की शादी के लिए कदम उठाए। बच्चियों के विवाह में उन्होंने स्वयं अपनी ओर से आर्थिक मदद भी की। 
नपाध्यक्ष की कार्यशैली के कारण जहां एक ओर छतरपुर शहर का विकास हो रहा है तो वहीं दूसरी ओर उन्होंने शहर को एक परिवार की तरह मानकर हर त्यौहार लोगों के साथ मिलकर मनाने का एक अनोखा प्रयास किया है। दीपावली पर्व के अवसर पर गरीब के घर में दिए और मिठाईयां भिजवाकर उनके साथ हमेशा साथ में खड़ी रहीं। रक्षा-बंधन पर्व पर शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में बहन का दायित्व भरपूर निभाया। हर उस जगह जहां संभव हो सका स्वयं पहुंचकर रक्षा-सूत्र वितरित किए। नवरात्र पर्व के अवसर पर गरबा नृत्य की शुरूआत भी नगर पालिका अध्यक्ष की देन है। धर्मिक कार्यो में नगर पालिका अध्यक्ष ने हमेशा बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। शहर से जटाशंकर धाम तक कावड़ यात्रा में वे हर साल अपने पति पुष्पेंद्र प्रताप सिंह गुड्डू भैया के साथ कदम से कदम मिलाकर चलती है। नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह ने  अपने अध्यक्षीय दायित्वों का सफलता पूर्वक निर्वाह करने का पूरा प्रयास अपने कार्यकाल में किया हैं और आगे भी करती रहेंगी जिसके लिए शहर के लोगों सेसहयोग की अपेक्षा हैं। 
नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह के जन्मदिवस पर आज शहर के बस स्टैंड सहित पांच स्थानों पर  खिचड़ी वितरण किया जाना है साथ ही छत्रसाल चैराहा पर पांच रूपए की रसोई पर  नगर पालिका अध्यक्ष की ओर से भोजन का वितरण कराया जाएगा।