रेत माफियाओं को साथ में लेकर कलेक्टर से मिलना चाह रहे थे विधायक राजेश प्रजापति

 

छतरपुर- कलेक्ट्रेट में आज एक अजब सा नजारा देखने को मिला जहां भाजपा के चंदला विधानसभा से विधायक राजेश प्रजापति ने  एक बचकाना आरोप छतरपुर कलेक्टर पर लगाया उनका कहना था कि कलेक्टर उनकी उपेक्षा कर रहे मैं 1 घंटे से उनके चेंबर के बाहर खड़ा रहा लेकिन उन्होंने मुझे बुलाया नहीं विधायक द्वारा यह जो आरोप लगाए गए हैं बिल्कुल बेबुनियाद क्योंकि जिस वक्त वह बाहर खड़े थे उस वक्त सत्ताधारी दल के एक विधायक और कलेक्टर के बीच गंभीर विषयों पर चर्चा कर रहे थे।

 कांग्रेस विधायक नातीराजा और कलेक्टर के बीच हुई कई मुद्दों पर बात

दोपहर जब छतरपुर कलेक्टर मोहित बुंदस लंच के बाद ऑफिस में आए तो वहां पर पहले से ही कॉलेज की छात्राएं गर्ल्स कॉलेज में सीट बढ़ाने के विषय में चर्चा करने के लिए बैठी थी जिनको कलेक्टर ने बुलाया और उनकी बात सुन गर्ल्स कॉलेज में 200 सीट बढ़ाने के लिए हामी भर दी, थोड़ी ही देर बाद राजनगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक विक्रम सिंह नातीराजा वहां पहुंचे और उन्होंने गर्ल्स कॉलेज राजनगर व लवकुश नगर में खोलने के लिए कलेक्टर को पत्र सौंपा साथ ही उन्होंने जो पटवारी स्थानांतरण के बाद अभी तक रिलीव नहीं हुए हैं उनको शीघ्र रिलीव कराने के लिए भी बोला जिस पर कलेक्टर ने एसएलआर आदित्य सोनकिया को बुलाकर तुरंत एक तरफा आदेश बनाकर पटवारियों को रिलीव करने के लिए कहा इसके साथ ही विधायक और कलेक्टर के बीच कई और विषयों पर चर्चाएं होती है।


 अमृत योजना,अधीक्षकों की पोस्टिंग,पीडब्ल्यूडी की जमीनों पर अतिक्रमण,के बारे में ली जानकारी

जल आपूर्ति को लेकर शुरू से ही गंभीर रहे कलेक्टर मोहित बुंदस को जब अमृत परियोजनाओं में चल रही गड़बड़ियों के बारे में बताया गया तो उन्होंने तुरंत नगर पालिका सीएमओ अरुण पटेरिया को बुलाकर वस्तु स्थिति जानी और नियम अनुसार कार्य करने के लिए निर्देशित किया, इसी तरह जब उनके सामने आदिम जाति कल्याण विभाग के छात्रावासों में हाल ही में पोस्टिंग किए गए अधीक्षकों के बारे में जानकारी दी गई तो उन्होंने तुरंत  इस विषय को गंभीरता से लेकर मामले पर कार्रवाई की बात है जब कलेक्टर मोहित बुंदस को बताया गया कि शहर में मौजूद पीडब्ल्यूडी विभाग की बेशकीमती जमीन पर अतिक्रमण कर  दुकानें बनाई जा रही हैं तो उन्होंने ऐसे अतिक्रमणकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

 जनता से नहीं रेत माफियाओं से है सरोकार

छतरपुर जिले में भाजपा की जनविरोधी लहर के कारण जिले से भाजपा का लगभग सूपड़ा ही साफ हो गया था बड़ी मुश्किल से भाजपा छह विधानसभा सीटों में से केवल चंदला विधानसभा सीट ही अपनी बचा सकती थी, बावजूद इसके अभी भी  भाजपा विधायक राजेश प्रजापति और पिता पूर्व विधायक आरडी प्रजापति जनता से संपर्क में आकर माफियाओं को लेकर कलेक्टर से मिलने पहुंचे थे चंदला विधानसभा क्षेत्र में पिता पुत्र ने रेत का काला कारोबार कर बेहिसाब संपत्ति जोड़ी है यह सब जानते और आज भी इनका रेत का कारोबार चल रहा है।