शहर में चल रहा शासकीय नालों पर अतिक्रमण करने का कंपटीशन 

छतरपुर- चुनाव के समय तालाबों पर अतिक्रमण का मुद्दा जोर-शोर से उठा था चुनाव लड़ रहे नेताओं ने आश्वासन भी दिया था कि तालाबों पर से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी परंतु चुनाव होते ही नेताओं के फुस्स हो गए, अब हालात यह है कि तालाबों पर अतिक्रमण ज्यों का त्यों है पर अब तालाबों को पानी से भरने वाले नाले भी अब अतिक्रमणकारियों के निशाने पर आ गए हैं। 


क्या है मामला

 शहर के बजरंग नगर,हनुमान मंदिर वेयर हाउस के पीछे का है जहाँ यह शासकीय नाला मौजूद है जो विलुप्त होने की कगार पर है, राजस्व रिकॉर्ड में यह नाला बगौता मौजा के खसरा नंबर 1789 दर्ज है यह शासकीय नाला होटल लॉ केपिटल से होते हुए बजरंग नगर हनुमान मंदिर के पीछे सिटी मोंटेसरी स्कूल महाराजा छत्रसाल महाविद्यालय के सामने से कुछ ही दूरी पर निकला है कॉलेज के सामने राकेश अग्निहोत्री का मकान है मकान के पीछे शासकीय शासकीय नाले की भूमि पर राकेश अग्निहोत्री द्वारा नाली को पुरवा कर गिट्टी डलवा दी गई है साथ ही बाउंड्री वाल बना कर कमरे बनाने की तैयारी चल रही है अतिक्रमणकारियों  द्वारा शासन की भूमि और नाले पर कब्जा कर शासकीय की संपत्ति पर कब्जा किया जा रहा है तहसीलदार से की गई है।